Home नज़रिया

नज़रिया

करोना की लाइन …….! – नीता मोहन

ज्यादा कुछ नहीं जानती थी वो बहुत कुछ पढ़ी लिखी नही थी न ...! अब दो बच्चों की मां थी और उम्र केवल 22...

फ़ीस वृद्धि के विरोध में धरने पर बैठे आयुष छात्रों पर दमनात्मक कार्यवाही

https://youtu.be/wDLmjIcuUQI देहरादून : आयुर्वेद विवि से संबद्ध निजी आयुष कॉलेजों की मनमानी के विरोध में छात्र-छात्राओं के आंदोलन के अट्ठारवें दिन आज शनिवार शाम परेड ग्राऊंड...

चुनावी दौर 2019: जनसंपर्क अभियान !

दोपहर की धूप अपने चरम पर है. लालकुआं का बाजार इस दुपहरी में ऊंघता हुआ सा मालूम पड़ता है. लालकुआं का यह बाजार नैनीताल जिले...

उत्तराखंड : वीरों से भरा उत्तराखंड !

उत्तराखंड सैन्य बहुल प्रदेश है. उत्तराखंड में सेना में जाने की परंपरा बहुत पुरानी है. 1887 में गढ़वाल राइफल बनी. जिसे हम आज कुमाऊँ रेजीमेंट...

सफरनामा !!!

देहरादून से परसों गांव आ रहा था। टैक्सी यूनियन से चक्का जाम किया था। फिर भी यूनियन की ही एक गाड़ी स्टैंड से दूर...

सवाल दायें या बायें वाले पूछ रहे हैं,क्या सिर्फ इसी तर्क से सवाल दायें-बायें...

बात तो ब्लैक एंड व्हाइट में ही है : व्हाइट कॉलर्ड लोगों के ब्लैक मनी के संदर्भ में उठे सवालों की ! भारत के राष्ट्रीय...

अटल बापू : काल के कपाल पर एक सशक्त हस्ताक्षर – कुसुम रावत

अटल बापू! आपको ये नाम सुनकर बड़ा अजीब लगेगा ना! पर ये नाम अटल विहारी वाजपेयी जी को टिहरी की एक बूढी साध्वी ने...

स्वस्थ लोकतंत्र की अवधारणा पर सवाल खड़े करता “मास्टर” का मास्टर स्ट्रोक

ए.बी.पी. न्यूज़ में जिस तरह से मिलिंद खांडेकर और पुण्य प्रसून वाजपेयी की विदाई हुई और अभिसार शर्मा को खामोश किया गया, वह निश्चित...

उत्तराखंड का ‘दर्द’ है उत्तरा का ‘प्रतिकार’

इन दिनों उत्तराखंड की सियासत में ‘उत्तरा’ प्रकरण की गूंज है । अब हर कोई इस प्रकरण पर हाथ साफ करने में लगा है...

हिंसा, घृणा, उन्माद और यौन कुंठाओं से धराशायी होता सामाजिक ताना-बाना – ये कैसा...

नारा तो न्यू इंडिया बनाने का गया उछाला गया था लेकिन जो इंडिया नजर आ रहा है, उसमें न्यू तो कुछ नहीं दिख रहा।...

उत्तराखण्ड ट्रांसफ़र एक्ट : आखिर किसके स्वार्थ के कारण सरकार लागू नहीं कर पा...

वर्ष 2002 में कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल के तत्कालीन कुलपति प्रो.बी.एस.राजपूत पर एक जर्मन नोबल पुरूस्कार विजेता वैज्ञानिक रैनेटा कैलौस के शोध पत्र की चोरी...

लोकतंत्र का अर्थ तुम कब समझोगे एस०डी०एम० बाबू ? – इंद्रेश मैखुरी

https://youtu.be/fAWmkyJeYZ4 सुनते हैं कि उत्तराखंड के यमकेश्वर ब्लाक के एक गाँव में ग्रामीणों द्वारा शराब का विरोध करना, एक एस.डी.एम. यानि उपजिलाधिकारी को इस कदर...

मास्टर स्ट्रोक “नोटबंदी” और भ्रष्टाचार की खुलती परतें : इंद्रेश मैखुरी

2016 में जिस वक्त नोटबंदी हुई, समर्थकों के अलावा भी कई प्रबुद्ध लोगों ने इसे प्रधानमंत्री का मास्टरस्ट्रोक बताया। हाल में एक आर.टी.आई. से...

कैद से बाहर कैदी सी जिंदगी जीते कांस्टेबल

पुलिस के बारे में प्रख्यात कवि पाश ने एक जगह लिखा है- "ऐ हुकूमत, तू अपनी पुलिस से, पूछ कर बता कि सीखचों के भीतर मैं...

“धर्म खतरे में है” के नारे से सांप्रदायिकता का बीज बोते लोग

हाल में उत्तराखंड में हुई कुछ घटनाएँ काफी चर्चित रही । ये घटनाएँ मनुष्यता के प्रति आस जगाती हैं और उस पर मंडराते खतरों...

तिलाड़ी कांड : 30 मई उत्तराखंड के इतिहास में एक रक्तरंजित तारीख – इंद्रेश...

30 मई उत्तराखंड के इतिहास में एक रक्तरंजित तारीख है । इसी दिन 1930 में तत्कालीन टिहरी रियासत के राजा नरेंद्र शाह ने रंवाई...

सत्यानाश हो, इस मुई गर्मी का बीमार कर दिया बेचारी ई.वी.एम. को ! –...

ई.वी.एम. गर्मी लगने के कारण ठीक से नहीं चली । .अर्थात ई.वी.एम. हैक नहीं हो सकती पर गर्मी के चलते उसे सफोकेशन हो सकता...
सांकेतिक चित्र

धधकते ‘जंगल’ और सुलगता ‘पहाड़’…. जवाबदेह कौन ? – योगेश भट्ट

उत्तराखंड में तमाम सुलगते सवालों के बीच इन दिनों पहाड़ पर जंगल धधक रहे हैं । इस बार तो जंगल की आग बस्तियों और...

थराली की ‘थाली’ से असल मुद्दा गुम – योगेश भट्ट

थराली उपचुनाव में सियासी ‘चौसर’ सजी है, सियासी दलों के ‘मोहरे’ एक दूसरे को मात देने को बेताब हैं । दिलचस्प यह है कि...

व्यापार भी चले, बातचीत भी चले और गोलीबारी भी चले ऐसा क्यों होना चाहिए?...

राष्ट्रीय राइफल्स में कश्मीर में तैनात युवा सैनिक दीपक नैनवाल, आतंकवादियों की गोलियां से जख्मी हुआ और 40 दिन अस्पताल में जिंदगी और मौत...