20 अक्टूबर से पुनः शुरू की जायेगी चारधाम यात्रारू सीएम

रुद्रप्रयाग: प्रदेश में भारी बारिश के कारण काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हेलीकॉप्टर से हवाई दौरा कर स्थिति का जायजा ले रहे हैं। आपदा प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रुद्रप्रयाग के गुलाबराय स्थित मैदान में लैंडिंग की। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं एवं जिला प्रशासन ने सीएम का स्वागत किया।

बता दें कि प्रदेश में लगातार तीन दिनों से मौसम खराब होने से हालात बेकाबू हो गये हैं। जगह.जगह भारी बारिश के कारण नुकसान की सूचनाएं प्राप्त हो रही हैं। अभी तक बारिश के कारण 17 लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में प्रदेश के मुखिया पुष्कर सिंह धामी आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा कर रहे हैं। आज दोपहर के समय कुमाऊ दौरे पर निकल रहे सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रुद्रप्रयाग स्थित गुलाबराय मैदान में लैंडिंग की। यहां पर पहले से मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं एवं जिला प्रशासन ने उनका स्वागत किया। इसके बाद सीएम धामी गुलाबराय स्थित भाजपा कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने जिला प्रशासन से स्थिति की जानकारी की।

उन्होंने जिलाधिकारी मनुज गोयल से कहा कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया जाय और जहां पर स्थिति खराब है, वहां पर शीघ्र राहत पहुंचाई जाय। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को कोई भी समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्हें रहने और खाने की बेहतर व्यवस्था की जाय। सीएम ने कहा कि मौसम साफ होने पर 20 अक्टूबर से यात्रा को खोल दिया जायेगा।

सीएम ने बताया कि प्रदेश में हुई भारी बारिश के कारण आपदा से काफी नुकसान हुआ है। कई जगहों पर पुल भी बह गये हैं। जनहानि की भी सूचनाएं मिल रही हैं। प्रदेश में घट रही घटनाओं की प्रधानमंत्री भी मानीटरिंग कर रहे हैं।सरकार की ओर से आम जन की मदद की जा रही है। आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया जा रहा है। उन्होंने अफवाह फैलाने वाले लोगों से सतर्क रहने की सलाह दी है। कहा कि मौसम सामान्य होने के बाद ही चारधाम यात्रा को शुरू किया जायेगा। कहा कि जिन जगहों पर यात्रियों के लिए रहने की व्यवस्थाएं नहीं हो पा रही हैं, वहां जिल प्रशासन को सख्त निर्देश दिये गये हैं। इस दौरान उनके साथ काबीना मंत्री डॉ धन सिंह रावत एवं डीजीपी अशोक कुमार भी मौजूद थे।

Previous articleबीस अक्टूबर से उन्नति विहार में युवा रामलीला मंडली करेगी रामलीला का मंचन, कार्यकर्ताओं में उत्साह का माहौल
Next articleउत्तराखंड में भारी बारिश के कारण हुआ जन-जीवन अस्त व्यस्त, नदियाँ खतरे के निशान से ऊपर, कई ट्रेनों का संचाल हुआ रद्द