ग्राम्य विकास मंत्री यतीश्वरानन्द ने की ग्राम्य विकास विभाग की बैठक, कार्यो की धीमी गति पर की नाराजगी व्यक्त

देहरादून: प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री यतीश्वरानन्द की अध्यक्षता में ग्राम्य विकास विभाग की बैठक यमुना स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित की गयी। जिसमें ग्राम्य विकास मंत्री ने प्रदेश में मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की।

इस दौरानग्राम्य विकास मंत्री ने मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्यो की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने विभागीय सचिव को तत्काल मनरेगा के कार्यों में गति लाने के निर्देश दिये।

मंत्री यतीश्वरानन्द ने प्रथम चरण में जनपद हरिद्वार में दस ग्रामों को आदर्श ग्राम बनाये जाने के निर्देश दियेI साथ ही प्रत्येक गॉवों का तत्काल सर्वे कराकर एक अभियान के तहत प्रत्येक गॉवों को शत-प्रतिशत शौचालय युक्त बनाए जाने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रत्येक सीडीओ व बीडीओ को मनरेगा के कार्यो में रूचि लेकर कार्य कराए जाने हेतु और सचिव ग्राम्य विकास को अपने स्तर से कैम्पों का आयोजन कर मनरेगा के कार्यो में तेजी लाने के लिए निर्देश दियेI

कहा कि मनरेगा कार्मिकों को देय मानदेय में रूपये 2000 से 3000 तक वृद्धि करने हेतु पत्रावली प्रस्तुत किया जायI वहीं हडताल अवधि का मानदेय मनरेगा कार्मिकों को दिये जाने हेतु पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दियेI

इस अवसर पर ग्राम्य विकास सचिव एस. एस. मुरूगेशन सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Previous articleबर्फखाने में हुआ अमोनिया गैस का रिसाव,मचा हड़कंप 
Next articleप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्ण रूप से कोविड 19 की पहली डोज लगाये जाने पर प्रदेशवासियों को दी बधाई,अभियान को सफल बनाने में जन भागीदारी को बताया अहम