प्रदेश भर में 61 नई एम्बुलेंस चलेंगी, 33 पुरानी भी बदली जाएंगी

देहरादून। प्रदेश में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को देखते हुए मुख्य सचिव एस़ रामास्वामी ने सोमवार को सचिवालय में 108 आपातकालीन सेवा के एडवाइजरी काउंसिल के बैठक की अध्यक्षता करते हुए जन स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक मजबूत बनाने पर जोर दिया। कहा कि पुरानी हो चुकी 33 एंबुलेंस को तत्काल बदलकर नई गाड़ियां खरीदी जाए। इस साल 61 नई एंबुलेंस का इंतजाम कर जरूरत वाली जगहों पर तैनात किया जाए। इसके साथ ही पशुओं को उपचार की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सचल पशु चिकित्सकों और पैरा चिकित्सकों की भी व्यवस्था की जाए। बैठक में बताया गया कि पुलिस की मदद से महिला हेल्पलाइन 181 शुरू किया गया है। इससे महिला उत्पीड़न की किसी भी घटना पर तुरंत सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। अभी तक लगभग 12 लाख आपात मामलों में कार्यवाही की गई है। इनमें पुलिस, आग और मरीज के मामले शामिल है। 96 प्रतिशत लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहरी क्षेत्रों में 28 मिनट और ग्रामीण क्षेत्रों में 40 मिनट पर एंबुलेंस पहुंच रही है। 263 सरकारी और 144 निजी अस्पतालों से इलाज के लिए करार किया गया है। बैठक में अपर सचिव स्वास्थ्य डॉ़ पंकज कुमार पाण्डेय, मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन आईएमआरआई के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सुबोध सत्यवादी, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ़ डी़एस़रावत, राज्य प्रभारी ईएमआरई मनीष टिंकू सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Previous articleकोटद्वार में चोरी की वारदातें थमने का नाम नही, पुलिस से गस्त बढ़ाने की मांग की गई
Next articleभारी बारिश के चलते पौड़ी जिले में बंद है ये सड़के, यात्रा शुरू करने से पहले रक्खे ध्यान