भगवान बद्रीविशाल चले अपनी माता से मिलने

बद्रीनाथ धाम: पौराणिक आस्था के केंद्र भू वैकुंठ धाम बद्रीनाथ में माता मूर्ति का मेला शुरू हो गया है, मान्यता के अनुसार वर्ष में एकबार बामन द्वादशी के दिन आज भगवान बदरीनाथ जी अपनी माता मूर्ति से मिलनें माणा गांव के समीप मन्दिर में पहुंचते है, साल में एकबार माता मूर्ति उत्सव में दिखाई देती है, आज के दिन भगवान बद्री नारायण अपनें बदरीनाथ धाम स्थित बदरीश पंचायत से अपनी माँ माता मूर्ति से मिलनें माता मूर्ति के मंदिर पंहुचते हैं, यह मंदिर बद्रीनाथ जी के समीप अंतिम गांव माणा के पास है।

उक्त दिवस पर भगवान बद्रीविशाल जी की उत्सव डोली भगवान उद्धव जी के प्रतिनिधित्व में नारायणजी के उदघोष के साथ माता मूर्ति के मंदिर की ओर रवाना होती है, जिसमें मंदिर के मुख्य पुजारी रावल जी और बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के कर्मचारियों के साथ साथ श्रद्धालुओं की भीड़ भी उमड़ आती है। आज भी भगवान बदरीनाथ जी की उत्सव डाेली में भगवान के प्रतिनिधि उद्धव जी विराजमान होकर माता मूर्ति के मंदिर की ओर रवाना हो गए हैं।

वर्ष में एक बार आज के दिन माता पुत्र के मिलन की इस बेला पर प्रातः 9बजे से करीब 6घंटे तक बदरीनाथ मन्दिर के कपाट बंद रहेंगे,
भगवान बद्रीनारायण को दाेपहर का भाेग भी माँ माता मूर्ति के मन्दिर में लगेगा। दिनभर पूजा अर्चना के पश्चात सांय काे बदरीनाथ जी पुन: अपनें मन्दिर मैं विराजमान हो जाएंगे।

Previous articleउत्तराखण्ड बन रहा है निवेशकों की पहली पसंद – फूड प्रोसेसिंग में 150 करोड़ के प्रस्ताव पर MOU हस्ताक्षरित
Next articleमुख्यमंत्री ने किया ‘‘स्वच्छता ही सेवा’’ अभियान के तहत श्रमदान