उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण हुआ जन-जीवन अस्त व्यस्त, नदियाँ खतरे के निशान से ऊपर, कई ट्रेनों का संचाल हुआ रद्द

हल्द्वानी: पिछले दो दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण पूरे उत्तराखंड में जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। भारी बारिश के कारण कुमाऊँ की गौला नदी के उफान पर होने से काठगोदाम रेलवे स्टेशन की पटरियों को काफी नुकसान पहुंचा है । काठगोदाम स्टेशन के शंटिंग नेक गौला नदी डूबने के कारण काठगोदाम स्टेशन से सुबह तड़के चलने वाली नैनी दून शताब्दीए मुरादाबाद पैसेंजर ट्रेन, संपर्क क्रांतिए लखनऊ-काठगोदाम एक्सप्रेसए और शताब्दी का संचालन नहीं हो पाया है।

स्टेशन प्रबंधक चयन रॉय ने बताया कि मंगलवार को दोपहर तक काठगोदाम स्टेशन पर किसी भी रेल गाडी का आवागमन संभव नहीं हो सका। प्रबंधक चयन रॉय ने कहा कि शंटिंग नेट को हुए नुकसान की रिपोर्ट तैयार की जा रही है ताकि उसको जल्द से जल्द दोबारा से बनाया जा सके।

उत्तराखंड में भारी बारिश ने तबाही मचाई हुई है। भूस्खलनए घर दबने और पुल टूटने सहित नेशनल हाईवे बंद होने से जगह- जगह यात्री फंस गए है।

हल्द्वानी में गौला नदी पर बना पुल भारी बारिश के बाद एक तरफ का हिस्सा भरभरा का कर टूट गया। खतरे को देखते हुए आवाजाही पूरी तरह से ठप कर दी गई है। 48 घंटे से अधिक समय से लगातार हो रही बारिश से सीमांत धारचूला की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

इसके अलावा काली नदी भी चेतावनी के स्तर से ऊपर बह रही है। नदी के उफान से काली नदी के किनारे रहने वाले लोगों में दहशत है।

लगातार हो रही भारी बारिश के कारण गूलरभोज में कई घर जलमग्न हो गए हैं। बौर और भाखड़ा जलाशय का जलस्तर बढ़ने पर गेट खोल दिए गए। गेट खोलने से नदियों का पानी खेतों में घुस गया। जिसके चलते कई एकड़ फसल जलमग्न हो गई। पिथौरागढ़ जिले में थल मुनस्यारी मोटर मार्ग डोर बेंड नर्सरी के पास मलबा आने से बंद हो गया है।

दर्जनों गाड़ियां और यात्री दोनों ओर से फंसे हुए हैं और ऊपर से पत्थर गिरने का भय भी बना हुआ है। अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया में पिछले दो दिन से लगातार हो रही है। बारिश के चलते जीवन अस्तण्व्यस्त हो गया है। क्षेत्र में दलहनी फसलों को इस बारिश से नुकसान हो रहा हैए रामगंगा नदी का जलस्तर धीरे- धीरे बढ़ रहा है।

Previous article20 अक्टूबर से पुनः शुरू की जायेगी चारधाम यात्रारू सीएम
Next articleविधायक राजकुमार के नेतृत्व में दून अस्पताल में कांग्रेसियों का प्रदर्शन, दी प्राचार्य के घेराव की चेतावनी