आंगनबाड़ी बहनों को दी सौगात, डीबीटी के माध्यम से प्रदान की प्रोत्साहन राशि

-आंगनवाड़ी कर्मियों को दी चालीस करोड़ रूपये की प्रोत्साहन धनराशि

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय से आंगनवाड़ी कर्मियों को प्रदान की जा रही प्रोत्साहन राशि का डीबीटी के माध्यम से शुभारम्भ किया। इससे 33297 आंगनवाड़ी कर्मियों के खाते में डीबीटी के माध्यम से धनराशि भेजी गई। मुख्यमंत्री की घोषणा के क्रम में इन सभी आंगनवाड़ी कर्मियों को कुल चालीस करोड़ रूपये की धनराशि दी जा रही है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के दौरान आंगनवाड़ी की बहनों ने जान जोखिम में डालकर कार्य किया। कोविड के दौरान सराहनीय कार्यों के लिए उन्हें पारितोषिक दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के हितों के लिए बड़ा निर्णय लिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 100 दिन पूर्व मुझे प्रदेश के मुख्य सेवक की जिम्मेदारी मिली। इन 100 दिनों में 300 से अधिक महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। अन्तिम पंक्ति के लोगों तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचे इसके लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2025 तक उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने का लक्ष्य दिया गया है। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार 33297 आगनवाड़ी कर्मियों द्वारा समर्पित भाव में किये गए कर्तव्य पालन के लिए की गयी प्रोत्साहन राशि एक हजार रूपये प्रति कर्मी, रक्षाबंधन के अवसर पर दी जाने वाली एक हजार रूपये प्रति कर्मी डीबीटी के माध्यम से प्रदान की गई। इसके अलावा मुख्यमंत्री की घोषणा पांच माह तक दो हजार रूपये प्रति कर्मी की प्रोत्साहन राशि व सितम्बर की प्रोत्साहन राशि 2 हजार रूपए प्रति आंगनबाड़ी कर्मी को ट्रांसफर की गई।

वहीं महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपनी बहनों के साथ किया वायदा निभाया है। आज डीबीटी के माध्यम से आंगनवाड़ी बहनों के खाते में डीबीटी के माध्यम से धनराशि भेजी जा रही है। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास की दिशा में राज्य सरकार द्वारा अनेक कार्य किये जा रहे हैं।

इस अवसर पर सचिव महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास हरिश चन्द्र सेमवाल, उपनिदेशक डॉ. एस. के. सिंह, राज्य परियोजना अधिकारी डॉ. अखिलेश कुमार मिश्र इंडसइंड बैंक के स्टेट हेड संदीप सेमवाल उपस्थित थे।

Previous articleकांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने आर्य की वापसी पर कहा, खेल भाजपा ने शुरू किया, खत्म कांग्रेस करेगी
Next articleसूचना अधिकार अधिनियम का मकसद विभागों में पारदर्शिता और जिम्मेदारी तय करना: बिमल जुल्का