कब्र में जिंदा दफ़्न कर दिया था, मौत के एक साल बाद पहुंच गया घर

1018
DJLIYd»F¹FS ¸FZÔ ¸FZWS¶FF³F IZY §FS ´FW¼Ô¨FF CXÀFIYF W¸FVF¢»FÜ

हरिद्वार, कलियर में एक युवक की मौत के एक साल बाद उसकी जैसी शक्ल वाला एक युवक घर पहुंच गया तो परिजन भी दंग रह गए। युवक की सड़क हादसे में मौत हुई थी। युवक खुद को इस परिवार का बेटा होने का दावा कर रहा है।

उसने दावा किया है कि हादसे के बाद वह मरा नहीं था, बल्कि जिंदा था। दो बाबा उसे कब्र से निकालकर ले गए थे। हालांकि परिजनों ने उसे अपनाया नहीं है। इसे लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा हो रही है।

कलियर निवासी मेहरबान (27) पुत्र शहीद की एक साल पहले कलियर-मेहवड़ मार्ग पर सड़क हादसे में मौत हो गई थी। बाइक ने उसे चपेट में लिया था। परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम के ही शव दफना दिया था।

यह भी पढ़ें : महिला ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मांगी “कच्ची शराब बनाने की परमीशन”…

मेहरबान की शादी भी नहीं हुई थी। करीब एक साल बाद अचानक ही मेहरबान का हमशक्ल कलियर में उसके घर पहुंच गया। उसे देख परिवार के लोग दंग रह गए। उसने दावा किया कि वह मेहरबान है। परिजनों को उसकी बातों पर विश्वास नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें : 200 फीट गहरी खाई में गिरी कार, दो लोगों की मौत, तीन घायल

परिवार के लोगों ने जब उसके जिंदा होने का राज पूछा तो उसने ऐसी कहानी बताई, जिसे सुनकर उस पर आसानी से विश्वास करना मुश्किल है। मेहरबान के बड़े भाई कुर्बान ने बताया कि भाई का हमशक्ल बता रहा है कि जब उसे दफनाया गया तो वह जिंदा था।

यह भी पढ़ें : मैक्स वाहन पर बोल्डर गिरा, एक महिला सहित तीन की मौत

दो बाबा उसे कब्र से निकालकर अपने साथ ले गए थे। एक साल तक वह उत्तर प्रदेश के शहाजहांपुर में बाबा के साथ रहा है। कुर्बान ने बताया कि वह परिवार से जुड़ी हर बात सही बता रहा है। कुर्बान ने बताया कि इसके बावजूद उन्हें नहीं लगता कि वह मेहरबान है। युवक दरगाह के मेहमानखाने में रुका है।