ऋषिकेश से जुड़े वसंत विहार चेन लूट के तार, जानिए कैसे

366

वसंत विहार के जीएमएस रोड और ऋषिकेश में हुई चेन लूट की वारदात में एक ही गैंग के होने के प्रारंभिक साक्ष्य मिले हैं। इसके साथ ही स्कूटी सवार बदमाशों द्वारा एक ही दिन में अंजाम दी गई तीन वारदात को लेकर भी पुलिस को कई अहम सुराग मिले हैं।

दावा किया जा रहा है कि बीते एक सप्ताह के दौरान हुई वारदात में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अपराधियों का हाथ हो सकता है, हालांकि पुलिस यह भी मान रही है कि इन अपराधियों को लोकल सपोर्ट भी दिया गया है। माना जा रहा है कि कुछ चेन लूट का पुलिस एक-दो दिन में खुलासा कर सकती है।

 यह भी पढ़े :  शॉप का मैनेजर ज्वेलरी समेत मुरादाबाद से गिरफ्तार

बुधवार से लेकर अब तक नेहरू कॉलोनी, रायपुर, वसंत विहार व ऋषिकेश में ताबड़तोड़ चेन लूट की वारदातों को बेखौफ बदमाशों ने अंजाम दिया है। इन वारदातों के खुलासे को पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था ने सोमवार को सात दिन का अल्टीमेेटम दे रखा है।

इसमें से तीन दिन का वक्त गुजर चुका है और पुलिस की तफ्तीश अभी जारी है। पुलिस को चेन लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोहों के बारे में कुछ साक्ष्य मिले तो हैं, लेकिन अफसर अभी कुछ भी बताने से बच रहे हैं।

मगर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जीएमएस रोड पर पुष्पांजलि एनक्लेव और इसके दो दिन बाद ऋषिकेश में हुई चेन लूट की दो वारदातों में बदमाशों ने बाइक का प्रयोग किया है। ऐसे में माना जा रहा है कि इन दोनों और बीते रविवार को वसंत विहार, नेहरू कॉलोनी व रायपुर में बिना नंबर की स्कूटी से हुई वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग अलग-अलग हैं। इसकी एक बड़ी वजह बाइक और स्कूटी का प्रयोग होना तो है, साथ ही उनके सीसीटीवी फुटेज भी अलग-अलग हैं।

श्वेता चौबे (एसपी सिटी) का कहना है कि चेन लूट की घटनाओं में शामिल बदमाशों की धरपकड़ को टीमें लगी हैं। कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। कुछ घटनाओं का जल्द ही खुलासा हो सकता है।

 यह भी पढ़े : BCCI जल्द करेगी CAC का गठन, फिर होंगे टीम इंडिया में ये बड़े बदलाव