कहीं सस्पेंड कराने तो कहीं आत्मदाह की धमकी, डेढ़ घंटे बंद रहा अतिक्रमण हटाओ अभियान

24

 हाईकोर्ट के आदेश पर शहर में चल रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान प्रशासन की टीम को धमकियों का भी सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को जीएमएस रोड और शिमला बाईपास पर अभियान के दौरान अतिक्रमण तोड़ने पर प्रशासनिक अधिकारियों को सस्पेंड कराने और परिवार सहित आत्मदाह करने की धमकियां मिलती रहीं। इस सब के बीच अभियान करीब डेढ़ घंटे तक बंद रहा।

सिटी मजिस्ट्रेट कुश्म चौहान के नेतृत्व में शुक्रवार को अतिक्रमण हटाओ टास्क फोर्स ने सुबह दस बजे जीएमएस रोड से ट्रांसपोर्ट नगर चौक तक अभियान चलाया। इस दौरान राजाराम मोहन राय एकेडमी की दीवार तोड़ने पर स्कूल प्रबंधन के लोग प्रशासन से नोकझोंक करते रहे। हालांकि प्रशासन ने उनकी एक न सुनते हुए कार्रवाई जारी रखी। इससे आगे बढ़ते हुए सेवला खुर्द में टास्क फोर्स ने अतिक्रमण की जद में आ रहे दो घरों की बाउंड्री वाल को तोड़ दिया। दीवार के टूटते ही महिलाएं और युवाओं समेत अन्य लोग एकत्र हो गए।

यह भी पढ़े :  सीएम रावत बोले, उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण; पर अभी रहना होगा और ज्यादा सतर्क

अभियान के दौरान कानून व्यवस्था की निगरानी कर रहे वसंत विहार इंस्पेक्टर नत्थी लाल उनियाल को एक युवक ने सस्पेंड कराने की धमकी दे डाली। युवक खुद को ग्रह मंत्रालय का कर्मचारी बताते हुए इंस्पेक्टर और अन्य अधिकारियों को सस्पेंड कराने की धमकी देता रहा। इस दौरान भाजपा सरकार और प्रशासन के अधिकारियों के विरोध में नारेबाजी होती रही। हालांकि, टीम विरोध से बचते हुए आगे बढ़ी।

इसके बाद टास्क फोर्स शिमला बाईपास रोड़ पर अतिक्रमण तोड़ते हुए तेलपुर चौक पहुंची। यहां चौक पर दुर्गा स्वीट शॉप भी अतिक्रमण की जद में आ रही थी। दुकान को तोड़ने के लिए जब अधिकारियों ने दुकान मालिक से कहा तो वह दुकान के कागजात दिखने लग गया।

प्रशासन ने हाईकोर्ट का हवाला देते हुए दुकान तोड़ने को कहा तो दुकान मालिक परिवार सहित आत्मदाह करने की बात कहने लग गया। विरोध को बढ़ता देख सीओ सिटी शेखर सुयाल ने पीएसी बल के साथ पटेल नगर कोतवाली, बाजार चौकी, क्लेमनटाउन थाना, आइएसबीटी चौकी, वसंत विहार थाना और प्रेमनगर थाने से अतिरिक्त पुलिस बल बुला लिया था।

विरोध के बीच करीब डेढ़ घंटे अभियान बंद रहा। सिटी मजिस्ट्रेट कुश्म चौहान ने बताया कि दुर्गा स्वीट शॉप का मामला एसडीएम कोर्ट में चल रहा है। जिलाधिकारी ने एसडीएम को जल्द मामले का निपटारे करने के निर्देश दिए हैं। निर्णय होने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े :  Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्तराखंड में स्वस्थ हुए मरीजों का आंकड़ा 50 हजार के पार