अनुसूचित जाति की 13 साल की किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी ने तेजाब पीकर दी जान

489

उत्तराखंड में अल्मोड़ा के एक गांव में अनुसूचित जाति की 13 वर्षीय किशोरी से हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में नामजद मुख्य आरोपी ने बृहस्पतिवार को तेजाब पीकर आत्महत्या कर ली। आरोपी ने दो दिन पहले ही बेटे का विवाह कराया था। धौलछीना तहसील क्षेत्र में 13 वर्षीय किशोरी के साथ पांच लोग पिछले एक साल से दुराचार कर रहे थे। आरोपियों में एक अधेड़, दो सगे भाई और पिता-पुत्र शामिल थे।

 इस खबर को भी पढ़िए : महिला ने खाया जहरीला पदार्थ, हालत गंभीर

इस बीच किशोरी गर्भवती हो गई थी। मामले का खुलासा दो दिन पहले तब हुआ जब किशोरी को पेट में दर्द होने पर महिला अस्पताल लाया गया। अस्पताल में उसका गर्भपात हो गया था। पीड़िता के पिता की तहरीर पर राजस्व पुलिस ने किशोरी द्वारा बताए गए पांच लोगों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामला राजस्व पुलिस से रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित होने के बाद पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए जाल बुनना शुरू कर दिया था।

इधर, मुख्य आरोपी ने बृहस्पतिवार को तेजाब पी लिया। उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। देर शाम तक मृतक की पहचान को लेकर संशय बना रहा लेकिन बाद में प्रशासन की ओर से जारी विज्ञप्ति में इस बात की पुष्टि कर दी गई कि तेजाब पीकर मरने वाला व्यक्ति ही दुष्कर्म मामले का मुख्य आरोपी था। पुलिस के अनुसार मामले में नामजद शेष आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द हो जाएगी।

 इस खबर को भी पढ़िए :  नाबालिग को अगवा कर दो भाइयों ने किया था दुष्कर्म, पीडि़त परिजनों ने दर्ज कराया मुकदमा