कम उम्र में शादी से हो सकती है गंभीर बीमारिया

185

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से आयोजित मासिक जन जागरूकता अभियान नगर के विद्यालयों में शुरू हो गया है। जिसके तहत बुधवार को नगर के एक विद्यालय में छात्राओं को सर्विक्स कैंसर गर्भाशय के मुख के कैंसर को लेकर जागरूक किया गया।

यह भी पढ़ें  :  शिक्षा का नया मंदिर बच्चों को रास नहीं आ रहा

संस्थान के स्त्री रोग विभाग की ओर से आयोजित जागरूकता मुहिम के तहत बुधवार को आवास विकास कॉलेज स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में चिकित्सकों ने छात्राओं को सर्विक्स कैंसर के कारण व उपायों की जानकारी दी गई। इस मौके पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने अपने संदेश में बताया कि सर्विक्स कैंसर का उपचार संभव है।

उन्होंने बताया कि किशोरावस्था में इसकी वैक्सीन लगाने से महिलाएं सर्विक्स कैंसर से सुरक्षित रह सकती हैं। उन्होने बताया कि कम उम्र में विवाह, शारीरिक संबंध बनाने व बच्चा पैदा करने वाली महिलाओं और एक से अधिक पुरुषों से संबंध बनाने वाली महिलाओं में सर्विक्स कैंसर की आशंका अधिक रहती है।

इस दौरान स्त्री रोग विभाग की डॉ. शशि प्रतीक व डॉ.अनुपमा बहादुर ने छात्राओं को सर्विक्स कैंसर के प्रति जागरूक किया। चिकित्सकीय टीम ने बताया कि इस बीमारी का पता सामान्यतौर पर पैप इस्मीयर टेस्ट के जरिए लगाया जा सकता है। इस अवसर पर डॉ. किरन कुंवर, डॉ. देवाशीष दास आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें  :  बच्चो के साथ बड़ो को भी मिलेगा शूटिंग का मौका