दुष्कर्म के आरोपी पर दोष सिद्ध

32

विशेष सत्र न्यायाधीश डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा की अदालत में नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी भैभव कुमार पुत्र श्रीपाल निवासी कस्बा शाही, थाना शाही, जिला बरेली हाल निवासी संजय मेडिकल के सामने ट्रांजिट कैंप रुद्रपुर (ऊधमसिंहनगर) पर धारा 376 और 5/6 पॉक्सो एक्ट में दोष सिद्ध हुआ है।

न्यायालय ने आरोपी को सजा सुनाने के लिए 12 जून की तिथि तय की है। भिकियासैंण तहसील के एक गांव निवासी नाबालिग पंद्रह दिसंबर 2018 को स्कूल गई थी। जब वह देर शाम तक घर नहीं लौटी तो माता-पिता ने उसकी तलाश शुरू की पर उसका कहीं कोई पता नहीं चला।

 इस खबर को भी पढ़िए : शार्टकट मारने वाले विक्रम चालकों के लाइसेंस होेंगे निरस्त

इसके बाद पिता ने पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट स्थानीय पटवारी के यहां दर्ज कराई। बाद में मामला रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित हुआ। पुलिस ने नाबालिग की खोजबीन शुरू की। पुलिस ने मोहान बैरियर पर नाबालिग और आरोपी भैभव कुमार को पकड़ लिया और भतरौंजखान थाने लाई।

पीड़िता ने कहा कि आरोपी भैभव कुमार उसे बहला फुसलाकर अपने साथ रुद्रपुर ले गया। ट्रांजिट कैंप में आरोपी ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। विवेचनाधिकारी ने विवेचना पूर्ण कर आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया। मामले का विचारण विशेष सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में चला।

अभियोजन की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) गिरीश चंद्र फुलारा, सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) शेखर चंद्र नैल्वाल, विशेष लोक अभियोजक भूपेंद्र कुमार जोशी ने न्यायालय में आठ गवाह परीक्षित कराए और प्रभावी पैरवी की। जिसमें निर्भया प्रकोष्ठ की अधिवक्ता अभिलाषा तिवारी ने भी सहयोग दिया। न्यायालय में आरोपी पर दोष सिद्ध हुआ।

 इस खबर को भी पढ़िए :  लग्जरी कार से 12 पेटी अंग्रेजी शराब समेत दो गिरफ्तार