पुलिस ने नकली शराब फैक्ट्री पकड़ी, चार गिरफ्तार

205

हरिद्वार बाइपास पर महीनों से चल रही नकली शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते पुलिस ने चार युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों में से तीन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के, जबकि एक हरियाणा का रहने वाला है। फैक्ट्री से भारी मात्रा में शराब बनाने में प्रयुक्त होने वाली सामग्री और बोतलों को सील पैक करने के उपकरण बरामद हुए हैं।

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि शहर में काफी दिनों से नकली शराब बेचे की जाने की सूचना मिल रही थी। इस पर मुखबिर तंत्र को खंगाला गया तो पता चला कि हरिद्वार बाइपास पर एक वर्कशॉप में नकली शराब बनाने का कारोबार चल रहा है। मंगलवार को एसपी सिटी श्वेता चौबे, सीओ जया बलूनी के नेतृत्व में नेहरू कॉलोनी और रानीपोखरी थाने की पुलिस ने वर्कशाप पर छापा मारा। इस दौरान वहां चार युवक शराब बनाते और बोतलों की पैकिंग करते मिले।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए : पुलिस ने बिना सोचे समझे लगाया आरोप, यकीन करना मुश्किल

इन युवकों की पहचान संजय निवासी सैदपुर जिला बुलंदशहर, यतेंद्र सिंह निवासी सियाली नगर बुलंदशहर, राहुल कुमार निवासी मागरोल, बुलंदशहर व रविंद्र पाल सिंह निवासी जैसीक कॉलोनी, जड़ौदा गेट थाना जगाधरी, जिला यमुनानगर, हरियाणा के रूप में हुई। पूछताछ में पता चला कि संजय पुराना शराब तस्कर है। कुछ समय पहले उसकी मुलाकात रविपाल से हुई। रवि पहले हरियाणा से शराब तस्करी किया करता था, बाद में शराब फैक्ट्री लगाने की योजना बनाई। हरिद्वार रोड पर वर्कशॉप किराये पर लिया और धंधा शुरू कर दिया।

शराब बनाने के लिए रॉ मैटेरियल, स्प्रिट व अल्कोहल सोनू सरदार रविंद्र पाल हरियाणा से लाता था। संजय शराब के लेबल हॉल मार्क एवं स्टीकर शामली से छपवाकर लाता था। इसके साथ ही वह सभी कबाड़ियों से शराब की खाली बोतलें खरीदते और उनमें नकली शराब भरकर बेचते थे। वर्कशॉप के गोदाम की तलाशी में भारी मात्रा में शराब की खाली बोतलें, देसी व अंग्रेजी शराब बनाने के उपकरण, शराब पैकिंग के सामान बरामद हुए हैं।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए : पीएम मोदी बाबा केदार के दर्शन को 18 मई को आएंगे उत्तराखंड