सितंबर में अमेरिका जाएंगे PM मोदी, संयुक्त राष्ट्र महासभा को दोबारा कर सकते हैं संबोधित

216

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका का दौरा करेंगे।जहां वो संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) में शामिल होंगे।माना जा रहा है कि इस बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एकबार फिर संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित कर सकते हैं। यह दूसरे कार्यकाल में पीएम मोदी की संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) की पहली बैठक है।  इससे पहले 2014 में भी पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया था। अपने दूसरे कार्यकाल में यह पीएम मोदी की पहली अमेरिका यात्रा होगी। वह 2015 में  वर्ल्ड सस्टेनेबल डेवलपमेंट समिट में शामिल होने के लिए न्यूयॉर्क गए थे।

इसके अलावा वहां वे संयुक्‍त राष्‍ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस द्वारा आयोजित किए जाने वाले जलवायु कार्रवाई सम्‍मेलन (क्‍लाइमेट एक्‍शन समिट) में हिस्‍सा लेंगे। इस दौरान वे ह्यूस्‍टन में भारतीय समुदाय को भी संबोधित कर सकते हैं।

 यह भी पढ़े : नाबालिग शादीे मामले में दूल्हा समेत सात गिरफ्तार

गुटेरस द्वारा जलवायु सम्‍मेलन का आयोजन 23 सितंबर को किया जाएगा। जलवायु सम्‍मेलन में उनके हिस्‍सा लेने की योजना उनके आगामी दौरे की लिस्‍ट में सूचिबद्ध है लेकिन ह्यूस्‍टन मीटिंग के बारे में आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। पीएम मोदी न्‍यूयार्क में होने वाली संयुक्त राष्‍ट्र महासभा की बैठक में हिस्‍सा लेने के लिए 20-23 सितंबर को अमेरिका का दौरा करेंगे। इसके बाद वह ह्यूस्‍टन भी जाएंगे, वहां वे टेक्‍सास में रहने वाले भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। वह वाशिंगटन डीसी जाएंगे या नहीं, इस बारे में कुछ भी स्‍पष्‍ट नहीं है, पर माना जा रहा है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र के विभिन्‍न सत्रों से इतर पीएम मोदी की ट्रंप सहित दुनिया के कई देशों के नेताओं से मुलाकात होगी।

अमेरिका में रह रहे भारतीय समुदाय के नेताओं का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका के दो शहरों शिकागो और ह्यूस्‍टन में भारतीय-अमेरिकी लोगों से मुलाकात कर सकते हैं। अमेरिका में रहने वाले भारतीय समुदाय के सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी जलवायु परिवर्तन पर 23 सितंबर को होने वाली संयुक्‍त राष्‍ट्र की विशेष बैठक से पहले ह्यूस्‍टन में होंगे और यूएन सत्र को संबोधित करने के लिए वह ह्यूस्‍टन से ही न्‍यूयार्क जाएंगे।

2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार जब उन्‍होंने अमेरिका का दौरा किया था, तब भी न्‍यूयार्क के मेडिसन स्‍क्वायर पर भारी संख्‍या में लोगों की भीड़ जुटी थी। यहां तकरीबन 20,000 भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोग जुटे थे, जिनमें भारतीय प्रधानमंत्री से मुलाकात को लेकर जबरदस्‍त उत्‍साह देखा गया।

2010 की जनगणना के अनुसार, टेक्‍सास इस मामले में चौथे नंबर पर है जहां सबसे अधिक भारतीय मूल के लोग रहते हैं। अपने विदेशी दौरे में वहां रह रहे भारतीय समुदाय से जुड़ने का मौका तलाशने वाले प्रधानमंत्री मोदी न्‍यू यार्क सैन जोस और वाशिंगटन में तीन बड़े भारतीय समुदायों से मुलाकात कर चुके हैं। प्रधानमंत्री के तौर पर उनका ये छठा अमेरिका दौरा होगा।

 यह भी पढ़े : स्वरोजगार के लिए 4.21 करोड़ ऋण को मंजूरी