देहरादून में स्पोर्ट्स कॉलेज में कोविड केयर सेंटर बनाने की योजना

451

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब बड़े कोविड केयर सेंटर तैयार किए जाएंगे। इसके तहत रायपुर स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में भी सेंटर बनाने की योजना है। रविवार को आइजी एसडीआरएफ संजय गुंज्याल ने स्पोर्ट्स कॉलेज का दौरा किया और व्यवस्थाओं का देखा।

आइजी दोपहर 12 बजे स्पोर्ट्स कॉलेज पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी टीम के साथ पूरे स्टेडियम का जायजा लिया। बताया जा रहा है कि स्टेडियम में दो से ढाई हजार बेडांे की व्यवस्था की जा रही है। जल्द ही प्रशासन इस दिशा काम शुरू करने जा रहा है। आइजी संजय गुंज्याल ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बड़े कोविड केयर सेंटर बनाने की योजना है। इसलिए स्टेडियम जैसे स्थानों पर जाकर देखा जा रहा है कि वहां किस प्रकार व्यवस्था की जा सकती है।

रेलवे स्‍टेशन पर बनेगा क्‍वारंटाइन रूम

एक जून से देहरादून से ट्रेनों का संचालन शुरू हो रहा है। ऐसे में रेलवे स्टेशन पर स्क्रीनिंग के दौरान अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे, उसे अस्पताल पहुंचाने तक स्टेशन पर बनाए जा रहे क्वारंटाइन रूम में रखा जाएगा।

देहरादून से सोमवार को पहली ट्रेन सुबह पांच बजे देहरादून-नई दिल्ली जनशताब्दी एक्सप्रेस रवाना होगी। ट्रेन के लिए 500 से अधिक यात्रियों ने टिकट बुक कराए हैं। ट्रेन से सफर के लिए यात्रियों को ट्रेन के समय से 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा। जहां रेलवे की स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद स्टेशन में प्रवेश देगी। इसके बाद यात्री अपनी सीट पर जाएंगे। ट्रेन में पर्दे, सीट कवर, कंबल आदि नहीं मिलेगा। इसके अलावा वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को भी यात्रा नहीं करने दी जाएगी।

कहां से होगी स्टाफ की व्यवस्था

प्रशासन की ओर से कोविड केयर सेंटर बढ़ाने की योजना तो बनाई जा रही है, लेकिन स्टाफ की व्यवस्था कहां से होगी, यह भी बड़ा सवाल है। मौजूदा समय के दौरान अस्पतालों में मेडिकल स्टाफ की भारी कमी है। आइसोलेशन सेंटरों में ही स्टाफ पूरा नहीं हो पा रहा है। ऐसे में यदि बड़े सेंटर खोले गए तो उनके लिए स्टाफ कहां से आएगा।

काठगोदाम जनशताब्दी में 222 सीटें बुक

देहरादून-काठगोदाम जनशताब्दी एक्सप्रेस में अभी तक कुल 222 सीट बुक हो चुकी हैं। यह ट्रेन मंगलवार को देहरादून से काठगोदाम के लिए रवाना होगी। इस ट्रेन में कुल 683 सीट हैं, जिनमें 461 खाली हैं।

होम क्वारंटाइन 418 लोग गंभीर बीमार

जिले में होम क्वारंटाइन किए गए 418 लोग गंभीर बीमारियों से ग्रस्त पाए गए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के सर्वे में यह बात सामने आई है। जिसके बाद इन सभी की निगरानी बढ़ा दी गई है। रविवार को गैर प्रांतों से 40 लोग देहरादून पहुंचे, इन सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इसके अलावा संस्थागत क्वारंटाइन में रखे गए लोगों में से रविवार को 1474 के सैंपल लिए गए। उधर, जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने उत्तराखंड आयुर्वेदिक कॉलेज में बनाए जा रहे कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण भी किया।

रैंडम सैंपलिंग के दौरान महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में छह, गोल्डन एयरपोर्ट में 93, होटल श्रीनिवास में पांच और होटल हिमालयन में चार कोरोना संदिग्धों के सैंपल लिए गए। दूसरी तरफ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की 11 टीमों ने रविवार को जिले के कंटेनमेंट जोन का भ्रमण कर 162 व्यक्तियों की निगरानी की। उधर, कोविड केयर सेंटर के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पर्याप्त बेड, आवश्यक उपकरण व अन्य सुविधाओं को शीघ्रता के साथ पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने कोविड सेंटर में सुरक्षा उपकरणों के साथ चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ की भी तैनाती के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े :  Coronavirus: उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा कोरोना ग्राफ, दून अस्पताल का स्टाफ भी आया जद में