बलियाली प्रकरण पर पंचायत प्रतिनिधि लामबंद

475

चापड़ ग्राम पंचायत के बलियाली गांव में जमीन हड़पने की कोशिश व फायरिंग प्रकरण में फरार आरोपित प्रॉपर्टी डीलर भाष्कर पांडे की गिरफ्तारी की मांग जोर पकड़ने लगी है। गुरुवार को पंचायत प्रतिनिधि एसडीएम अभय प्रताप सिंह से मिले। कहा कि दोबारा ग्रामीणों की भूमि पर अवैध कब्जे की कोशिश की गई तो प्रशासन जिम्मेदार रहेगा। इधर, फरार आरोपित की तलाश को नैनीताल प्रशासन के साथ मिलकर सर्विलांस के जरिए उसकी लोकेशन पता की जा रही है।

ग्रामीणों की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने पहुंचे फरार चौथे आरोपित भाष्कर पांडे की गिरफ्तारी न होने से आक्रोश बढ़ रहा है। एसडीएम से जिपं सदस्य धन सिंह रावत ने ग्रामीणों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आग्रह किया। इस मौके पर बीडीसी सुरेश फत्र्याल, प्रधान चापड़ गिरीश चंद्र, शेखर तिवारी, ललितमोहन पांडे, बालादत्त, भाष्कर तिवारी, भुवन दत्त, रेबा देवी, गुड्डी देवी, पुष्पा देवी, दयाकिशन तिवारी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़े :    नए मुख्य सचिव की नियुक्ति के साथ ही तीन जिलों के जिलाधिकारी भी बदले

ये है पूरा मामला

सोमवार शाम कार सवार गरमपानी निवासी पंकज त्रिपाठी व भाष्कर पांडे, तल्ला रामगढ़ का नवाब खान तथा भवाली निवासी आशीष कुमार (सभी नैनीताल जनपद) बलियाली गांव आ पहुंचे। आरोप है कि इससे पूर्व जमीन के सौदागरों ने गांव में 63 नाली भूमि को अपना बता महिलाओं से उस तरफ घास नहीं काटने को कहा। एतराज पर धमकाने का आरोप है। इस पर माहौल बिगड़ गया।

घेराबंदी पर फायरिंग कर चारों मय वाहन फरार हो गए। राजस्व पुलिसने तीन आरोपित दबोचे, चौथा भाष्कर पांडे फरार हो गया। कार से देसी पिस्टल व दो जिंदा कारतूस बरामद। अगले दिन तीन को जेल भेज दिया गया।

‘बलियाली गांव के लोग पंचायत प्रतिनिधियों के साथ आए थे। फरार आरोपित की गिरफ्तारी को प्रयास तेज कर दिए हैं। नैनीताल प्रशासन से संपर्क में हैं। उम्मीद है जल्द पकड़ लेंगे। कानून व्यवस्था से खिलवाड़ नहीं होने देंगे।

– अभयप्रताप सिंह, एसडीएम रानीखेत’

‘रानीखेत तहसील क्षेत्र में वारदात कर फरार आरोपित की गिरफ्तारी को वहां के प्रशासन को हरसंभव मदद देंगे। पूरे घटनाक्रम के बारे में तहसीलदार व राजस्व पुलिस से वार्ता कर जानकारी लेंगे।

– ऋचा सिंह, एसडीएम कोश्याकुटौली (नैनीताल)’

यह भी पढ़े :   प्रकृति के बहर के बीच बीमार और प्रसूता महिलाएं कर रही हैैं प्रशासन के मदद का इंतजार