पौड़ी के सभागार में पराविधिक स्वयंसेवियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

26

पौड़ी,पंकज रावत। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के निर्देशानुसार आज जिला मुख्यालय दीवानी न्यायालय परिसर पौड़ी के सभागार में पराविधिक स्वयंसेवियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जिला जज अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल सिकंद कुमार त्यागी द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

उन्होंने पराविधिक स्वयंसेवियों को विभिन्न कानूनों की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। कहा कि भारतीय संविधान के अनुरूप हर वर्ग के व्यक्ति को सामाजिक और आर्थिक न्याय मिल सके इसके उद्देश्य से ही प्राधिकरण की स्थापना हुई है। उन्होंने पराविधिक स्वयंसेवियों के अधिकारों पर विस्तार से रोशनी डाली। कहा कि वह विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करें, जिससे प्रत्येक गरीब और असमर्थ व्यक्ति को समान रूप से न्याय मिल सके।

कार्यक्रम में श्री आशुतोष कुमार मिश्रा, अपर जिला जज/अपर निदेशक उत्तराखण्ड न्यायिक एवं विधिक अकादमी भवाली द्वारा सभी पराविधिक स्वयंसेवियों को विभिन्न कानूनों की जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि विधिक सेवा संस्थानों को समाज के कमजोर और वंचित वर्गों के अधिकारों के प्रति विधिक साक्षरता और जागरूकता कार्यक्रमों का संचालन करने के लिए अधिदिष्ट किया गया है। ये जागरूकता और कानूनी साक्षरता कार्यकम न केवल शहरों और कस्बों में बल्कि ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधिक शिविरों में बाल अधिकार, वरिष्ठ नागरिक, आपदा पीड़ितों के अधिकारों और महिलाओं के अधिकारों, मौलिक अधिकारों तथा मौलिक कत्र्तव्यों जैसे बिन्दुओं पर भी विधिक जानकारी दिए जाने को कहा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में उनके द्वारा पराविधिक स्वयंसेवियों को नालसा की 10 योजनाओं की भी जानकारियां दी गई। इस मौके पर सिविल जज,सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी से संदीप कुमार तिवारी आदि ने विचार रखे।