गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में घटने लगी है श्रद्धालुओं की संख्या

899

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम को आने वाले यात्रियों की संख्या कम होने लगी है। अब प्रति दिन दोनों धामों में यात्रियों की संख्या दो-दो हजार का आंकड़ा भी पार नहीं कर पा रही है।

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम को आने वाले यात्रियों की संख्या कम होने लगी है। यात्रा पड़ावों पर भी सन्नाटा पसरने लगा है।

अब प्रति दिन दोनों धामों में यात्रियों की संख्या दो-दो हजार का आंकड़ा भी पार नहीं कर पा रही है। जबकि मई माह में यात्रियों की संख्या प्रति दिन बारह हजार से ऊपर थी।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के जवान योगेश परगांई नागालैंड में आंतकियों हुई से मुठभेड़ में शहीद

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट 18 अप्रैल को खुले थे। लेकिन यात्रा ने केदारनाथ और बदरीनाथ के कापट खुलने के बाद गति पकड़ी।

एक मई से लेकर 31 मई तक गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में बेहतर यात्रा चली। मई माह में गंगोत्री जाने वाले यात्रियों की संख्या प्रति दिन आठ हजार से लेकर तेरह हजार के बीच रही। जबकि यमुनोत्री में आठ हजार से लेकर बारह हजार यात्री प्रति दिन दर्शन के लिए गए।

यह भी पढ़ें : जून के अंत में मिलेगी गर्मी से राहत, दस्तक दे सकता है मानसून…. बढ़ती गरमी के चौंकाने वाले आंकड़े

इस बार प्रशासन ने व्यवस्थाएं भी बीते वर्ष की तुलना में काफी अच्छी की है। उसके बाद भी यात्री मानसून सीजन में यात्रा करने से हिचक रहे हैं। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल ने कहा कि यात्रियों की संख्या कम होने का कारण मानसून सीजन का आना हो सकता है। इसके साथ स्कूलों की छुट्टियां भी खत्म हो गई हैं।

यह है आंकड़े

एक मई से 31 मई तक गंगोत्री जाने वाले यात्रियों की संख्या-265297

एक मई से 31 मई तक यमुनोत्री जाने वाले यात्रियों की संख्या-256676

यह भी पढ़ें : 25 साल बाद शाही स्नान के लिए हनोल पहुंचे मासू महाराज, देव मिलन पर उमड़ा लोगों का हुजूम

जून माह में यात्रा का हाल

सप्ताह————-गंगोत्री———यमुनोत्री

प्रथम सप्ताह——36023——–30274

दूसरा सप्ताह——-23717——–20246

तीसरा सप्ताह——13779——–10026