दून, ऋषिकेश और हरिद्वार में मेट्रो को अभी और इंतजार

368

राजधानी देहरादून, हरिद्वार और ऋषिकेश में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के तहत पीआरटी (पर्सनलाइज्ड रैपिड ट्रांजिट) सिस्टम को इंतजार फिलहाल और बढ़ गया है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के संबंध में दो कंपनियों की ओर से प्रस्तुतीकरण दिए गए। इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इन शहरों में यातायात के बढ़ते दबाव को कम करने के लिए वैकल्पिक साधनों पर ध्यान देना जरूरी है। उधर, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि बैठक में पीआरटी और एलआरटी सिस्टम पर चर्चा हुई। जल्द ही सरकार इस दिशा में आगे बढ़ेंगी।

उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन की ओर से देहरादून-हरिद्वार-ऋषिकेश के मध्य मेट्रो के संचालन के मद्देनजर तैयार कांप्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान को लेकर मुख्यमंत्री ने हाल में बैठक ली थी। इसमें यातायात व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए हरिद्वार और ऋषिकेश में पीआरटी की व्यवहारिकता पर चर्चा की गई। मुख्यमंत्री ने ऋषिकेश और हरिद्वार के लिए पीआरटी पर कार्ययोजना के साथ ही देहरादून के लिए अन्य प्रस्ताव 12 जुलाई की बैठक में रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए थे।
शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास के सभागार में हुई बैठक में दो कंपनियों की ओर से पीआरटी व रोपवे प्रणालियों के संबंध में प्रस्तुतीकरण दिया। इसका अवलोकन करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि बड़े शहरों में जनसंख्या में बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में यातायात समस्या के निदान को रोपवे, पीआरटी और मैट्रो जैसी योजनाओं पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है। घनी आबादी वाले क्षेत्रों में जगह की कमी के दृष्टिगत आवागमन को ये साधन उपयुक्त हो सकते हैं।
इसके लिए उन्होंने व्यवहारिक कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के अनुसार बैठक में हरिद्वार में पीआरटी और देहरादून में रोपवे के अलावा देहरादून- ऋषिकेश, हरिद्वार-देहरादून के मध्य एलआरटी (लाइट रेल ट्रांजिट) सिसटम पर मुख्य रूप से बैठक में चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि जल्द ही इस संबंध में निर्णय लेकर आगे बढ़ा जाएगा। बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, सचिव आवास नितेश कुमार झा, उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के एमडी जितेंद्र त्यागी, एसमडीडीए के उपाध्यक्ष डॉ. आशीष कुमार, डोपलमेयर लि. के एमडी विक्रम सिंघल, अल्ट्रा पीआरटी लि. के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी नितिन कुमार मौजूद थे।