अब डेंगू की चपेट में काशीपुर

225

हल्द्वानी में डेंगू का प्रकोप अभी खत्म नहीं हुआ कि काशीपुर भी इसकी चपेट में आने लगा है। अब तक 13 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। चिकित्सकों की देखरेख में उनका इलाज निजी अस्पतालों में चल रहा है।

काशीपुर में डेंगू के मरीज बढ़ने लगे हैं। यह मरीज अभी तक सरकारी अस्पताल में इलाज करा रहे थे, लेकिन सरकारी व्यवस्था पर भरोसा न होने के चलते अब निजी चिकित्सालयों में इलाज करा रहे हैं। डेंगू होने पर मरीजों की दिक्कतें बढ़ रही हैं। इसके साथ ही चिकित्सकों की उलझन भी बढ़ती नजर आ रही है। चिकित्सकों का कहना है कि सुरक्षा में चूक होने के चलते डेंगू जैसा खतरा बढ़ता है और इस सर्द और गर्मी के बीच के मौसम में डेंगू बढ़ने के मौके अधिक रहते हैं।

यह भी पढ़े :   टीन की छत काटकर लाखों का सामान किया चोरी

निजी अस्पतालों में भर्ती हैं मरीज

काशीपुर के मुरादाबाद रोड स्थित दो निजी अस्पतालों में इन मरीजों का इलाज किया जा रहा है। एक अस्पताल में आठ और दूसरे अस्पताल में पांच मरीज भर्ती है। नाम न छापने की शर्त पर बताया कि बार संघ के अध्यक्ष की पत्नी भी डेंगू के डंक से बीमार हो चुकी हैं।

क्या हैं लक्षण

-डेंगू होने पर तेज बुखार आना आम बात है।

-डेंगू में अधिकतर जोड़ों, मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द होता है।

-घबराहट और जी मिचलाना भी शुरू हो जाता है।

-आंख के पीछे दर्द की शिकायत होती है यह दर्द आंखों की मूवमेंट से बढ़ता है।

कितनी रहनी चाहिए प्लेटलेट्स

आमतौर पर एक तंदुरूस्त आदमी के शरीर में डेढ़ से दो लाख प्लेटलेट्स होते हैं। प्लेटलेट्स बॉडी से ब्लीडिग होने से रोकने का काम करती है। अगर प्लेटलेट्स एक लाख से कम हो जाए तो उसकी वजह से डेंगू हो सकता है। इसके लिए अधिक से अधिक पानी का सेवन करना चाहिए ताकि बुखार न आ सके।

क्या करें

-खाने में हल्दी अजवाइन, अदरक, हींग का इस्तेमाल करें।

-पानी का सेवन अधिक करें खास तौर पर उबाल कर पिएं।

-पानी इकट्ठा न होने दें, कूलर का पानी रोज बदलें।

क्या न करें

-ठंडा पानी न पीएं, मैदा और बांसी खाना न खाएं।

-मौसम में पत्ते वाली सब्जियां, अरबी, फूलगोभी न खाएं।

सबसे अधिक पानी का सेवन करें। लोगों का मानना है कि बकरी का दूध, पपीते का रस और कीवी का सेवन करने से डेंगू पर रोकथाम की जा सकती है तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। इसके लिए चिकित्सीय परामर्श और दवाएं अवश्य लें ताकि रोग से बच सकें।

यह भी पढ़े :  पाकिस्तानी अंपायर की मैच के दौरान अचानक हुई मौत, शोक में क्रिकेट जगत