कुमाऊं के सबसे बड़े हत्याकांड में पत्नी और प्रेमी का नाम आया सामने, दोनों पर मुकदमा दर्ज

346

सलड़ी के पास जली कार में मिले कंकाल के मामले में सोमवार की रात नया मोड़ आ गया। वारदात के बाद से लापता अवतार सिंह की पत्नी नीलम और मनीष मिश्रा नामक युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। मनीष नीलम का दोस्त है। आरोप है कि यह दोस्ती अवतार को पसंद नहीं थी। परिजनों ने सिर्फ शक के आधार पर दोनों के खिलाफ भीमताल थाने में तहरीर सौंपी है और इसी आधार पर पुलिस ने अवतार की हत्या का केसलिखा है। वहीं, खुलासे के करीब पहुंच चुकी पुलिस जल्द पूरे राज से पर्दा उठाने का दावा कर रही है। मर्डर के तार शुरू से ही रुद्रपुर से जुड़े रहे।

16 मई की रात हल्द्वानी-भीमताल मार्ग पर सलड़ी के पास जली कार में ड्राइवर सीट के बगल की सीट पर कंकाल मिला था। कार रुद्रपुर निवासी अवतार सिंह की थी और वह अब भी लापता हैं। वहीं अंबाला से आए परिजनों ने कंकाल अवतार का ही होने का दावा कर हत्या की आशंका जताई है। सोमवार को अवतार के पिता गुलजार सिंह, मां नक्षत्रो देवी, बड़े भाई जगतार सिंह समेत परिजन कोतवाली पहुंचे। पुलिस ने कंकाल को अवतार का मानकर इसे परिजनों को सौंपने की अनुमति दे दी है। हालांकि कंकाल अब भी पोस्टमार्टम हाउस में रखा गया है।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए : 30 मई को आएगा उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट

शुरू से संदिग्‍लगी मनीष की भूमिका

वहीं, पुलिस की जांच में रुद्रपुर में रहने वाले युवक मनीष की भूमिका शुरू से संदिग्ध मिली है। वह वारदात की रात से लापता चल रहा है। पुलिस टीम रुद्रपुर में डेरा डालकर उसके ठिकानों पर दबिश दे रही है। वहीं, रात में भीमताल थाने में अवतार के पिता गुलजार सिंह ने बहू नीलम और मनीष मिश्रा के खिलाफ मुकदमा लिखाया।

प्रेम-प्रसंग को घटना का कारण मान रही पुलिस

तहरीर के मुताबिक नीलम व मनीष की दोस्ती अवतार को पसंद नहीं थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कई बार विवाद भी हुआ। तहरीर में कहा गया है कि अवतार के गायब होने व बाद में कार के अंदर नर कंकाल मिलने पर उनका शक गहराया। प्रेम प्रसंग की लाइन पर शुरू से काम पुलिस इस हत्याकांड को शुरू से प्रेम प्रसंग से जोड़ रही थी। अंदरखाने टीम भी इसी लाइन पर काम कर रही थी। अब फरार युवक के पकड़े जाने पर खुलासा होगा कि मर्डर में कितने लोग शामिल थे।

रुद्रपुर से हल्द्वानी आने में लगे थे दो घंटे

रुद्रपुर स्थित घर से अवतार सिंह की कार सवा तीन पर निकलते दिख रही है। वहीं नीलम के मुताबिक वह और पति साढ़े चार से पांच बजे के बीच हल्द्वानी पहुंचे थे। पुलिस आधे घंटे के रास्ते में दो घंटे का समय लगने के कारणों का भी पता लगा रही है। बेटे के गम में मां की तबीयत बिगड़ी अवतार के लापता होने व हत्या की आशंका से मां नक्षत्रो देवी काफी सदमे में हैं। उनकी तबीयत बिगड़ गई है। सोमवार को कोतवाली पहुंची नक्षत्रो काफी चिंतित दिख रही थीं।

तो मजबूत मुकदमे के लिए लिखित शिकायत में देरी

अवतार के परिजन हत्यारोपितों को पकड़ने के साथ ही सख्त सजा दिलाने की मांग कर रहे हैं। जिस कारण वह लिखित शिकायत देकर मुकदमा दर्ज कराने में समय लगा रहे थे। हत्यारे को न्यायालय से कड़ी से कड़ी सजा मिल सके, इसलिए नामजद मुकदमा कराने पर फोकस किया गया। परिजन अपने स्तर से जुटे रहे अवतार मूल रूप से अंबाला निवासी थे। कार में कंकाल मिलने पर परिजन जब यहां पहुंचे तो उनका शक गहराया।नीलम व मनीष के संबंधों का उन्हें पहले से थोड़ा पता था। लिहाजा उन्होंने अपने स्तर से पड़ताल करनी भी शुरू की।

परिजनों ने शक के आधार पर दी है तहरीर

मनोहर सिंह, प्रभारी थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जांच भीमताल थाने को मिली है। फिलहाल मृतक के पिता गुलजार सिंह की तहरीर पर नीलम व मनीष मिश्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। परिजनों ने सिर्फ शक के आधार पर तहरीर दी है।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए : छात्रवृत्ति घोटाले में डिप्टी डायरेक्टर अनुराग शंखधर हुए निलंबित