हरिद्वार में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आज किसान घाट पर करेंगे मौन साधना

51

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव हरीश रावत कुंभ के लिए कम धन देने के मुद्दे को लेकर हरिद्वार में गंगा किनारे किसान घाट पर गुरुवार दोपहर दो बजे से तीन बजे तक मौन साधना करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हरिद्वार कुंभ के लिए केंद्र सरकार पर पर्याप्त धन नहीं देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रयागराज और उज्जैन कुंभ के मुकाबले हरिद्वार में प्रस्तावित कुंभ के लिए बहुत कम धन आवंटित किया गया है। यही नहीं उन्होंने कांग्रेसजनों से भी अनुरोध किया है कि वे उनके उक्त कार्यक्रम में शामिल न हों। यह उनका एकांगी कार्यक्रम है, लिहाजा इसमें आने का कष्ट न करें।

प्रीतम राम और हरीश रावत  बलराम: धीरेंद्र प्रताप

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी के भीतर खींचतान को गैर जरूरी बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह राम हैं तो पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत बलराम हैं। उन्होंने कहा कि हरीश रावत प्रदेश में पार्टी के सर्वोच्च नेता हैं। वहीं प्रीतम सिंह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के विश्वास का प्रतीक और उनके प्रतिनिधि हैं। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश पर की जा रही टिप्पणियों पर क्षोभ व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें :   JP Nadda: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे की तैयारियों में जुटी प्रदेश भाजपा

कांग्रेस की गलती को भाजपा सरकार ने सुधारा : भगत

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने प्रदेश सरकार द्वारा हरिद्वार में हरकी पैड़ी में बह रही गंगा की धारा को एस्केप चैनल घोषित करने संबंधी शासनादेश निरस्त किए जाने के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा गंगा की गरिमा व पवित्रता के खिलाफ उठाए गए कदम को सुधार कर महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

भगत ने कहा कि हरीश रावत के नेतृत्व वाली पिछली कांग्रेस सरकार ने हरकी पैड़ी पर बहने वाली गंगा की धारा को एस्केप चैनल घोषित कर दिया था। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वायदा किया था कि कांग्रेस सरकार की इस गलती को ठीक किया जाएगा। अब यह वादा पूरा कर दिया गया है। इससे गंगा के प्रति आस्था रखने वाले करोड़ों श्रद्धालुओं की इच्छा पूरी हुई है।