वहशियों ने दिया अमानवीय घटनाओं को अंजाम, न गर्भवती को छोड़ा न बच्ची को

1321

उत्तराखंड में बदमाशों के हौसले बुलंद है। पुलिस और कानून का उन्हें कोई खौफ नहीं रहा। रविवार को बदमाशों की ऐसी ही कई स्साहसिक घटनाएं सामने आईं। बागेश्वर में बदमाशों ने न सिर्फ एक गर्भवती के साथ छेड़छाड़ की बल्कि उसके साथ मारपीट भी की जिसके चलते उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बागेश्वर के कपकोट थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। एक युवक ने गर्भवती महिला से छेड़छाड़ की। जब महिला ने विरोध किया तो युवक ने उसकी पिटाई भी की, कपड़े तक फाड़ डाले। घटना के बाद आरोपी फरार हो गया। घायल गर्भवती को जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है। देर शाम कपकोट पुलिस ने आरोपी भूपाल राम के खिलाफ छेड़छाड़ और पिटाई का मामला दर्ज कर लिया है।

शनिवार देर शाम कपकोट थाना क्षेत्र निवासी भूपाल राम एक गर्भवती महिला के घर में घुस गया। महिला पांच माह के गर्भ से है। उस वक्त घर पर महिला और उसके दो छोटे बच्चे थे। युवक ने गर्भवती से छेड़छाड़ शुरू कर दी। महिला ने इसका विरोध किया तो युवक हमलावर हो उठा। उसने लात-घूसों से महिला की पिटाई कर दी। उसने महिला के कपड़े भी फाड़ डाले। महिला की चीख पुकार सुनकर जब तक पड़ोसी जुटते तब तक युवक फरार हो गया। इस बीच, महिला का पति भी घर लौट आया।

इसके बाद घायल महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पीड़ित महिला ने बताया कि आरोपी युवक काफी समय से उसे परेशान करता आ रहा था। काफी समझाने बुझाने के बाद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था। आरोपी ने मारपीट के दौरान उसके पेट पर भी लात मारी। पीड़ित परिजनों ने पुलिस से आरोपी को जल्द पकड़ने की मांग की। अस्पताल की सूचना के बावजूद कोतवाली पुलिस ने घटनास्थल कपकोट का होने का हवाला देकर पल्ला झाड़ दिया।

पोती से दुष्कर्म के आरोपी सौतेले नाना को जेल
चंपावत में दस साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म के आरोप में फरार चल रहा सौतेला नाना आखिर पुलिस के चंगुल में आ गया। इस बच्ची के माता-पिता नहीं हैं। अदालत में पेश करने के बाद आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

करीब डेढ़ साल पूर्व परिजनों ने बालिका को पढ़ाई के लिए हल्द्वानी के एक स्कूल में भर्ती कराया था। करीब छह माह पहले यह बच्ची चंपावत आई थी। आरोप है कि सौतेला नाना बच्ची के साथ दुराचार करता था। सौतेले नाना ने मुंह खोलने पर बच्ची को जान से मारने की धमकी भी दी थी।

जानकारी लगने पर 28 जून को परिजनों ने हल्द्वानी के मुखानी थाने में आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो अधिनियम के तहत शून्य एफआईआर दर्ज कराई थी। बाद में यह मामला चंपावत कोतवाली को स्थानांतरित किय गया। तबसे आरोपी फरार चल रहा था। दरोगा जसवीर सिंह ने बताया कि आरोपी को दबोच कर रविवार को अदालत में पेश किया गया। उसे लोहाघाट जेल भेज दिया गया है।

नाबालिग से बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार
अल्मोड़ा में चौखुटिया पुलिस ने 12 साल की नाबालिग से बलात्कार के मामले में आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार किया है। पीड़िता के पिता की ओर से थाने में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार आरोपी जीवन साह (30) ने 15 जुलाई को उसके घर के निकट पानी भरने गई बालिका को अपने कमरे में बुलाया।

बालिका ने मना किया तो वह उसे जबरन अंदर ले गया और उसके साथ बलात्कार किया। घटना से सहमी बालिका ने अपनी मां को मामले की जानकारी दी। मां ने उसके पिता को मामले से अवगत कराया।

रिपोर्ट दर्ज होने के बाद हरकत में आई पुलिस ने रविवार सुबह आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार किया। थानाध्यक्ष रमेश सिंह बोहरा ने बताया कि मामला धारा 376 और 3/4 पॉक्सो के तहत दर्ज किया गया है। बालिका का मेडिकल कराया जा रहा है। आरोपी को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेजा जाएगा। आरोपी शादीशुदा है और अकेले ही रहता है। पत्नी काफी समय पहले उसे छोड़कर जा चुकी है।