सावधान : सचिवालय, कोषागार में नौकरी के नाम पर लाखों ठगे

510

नौकरी के नाम पर युवाओं से धोखाधड़ी का एक और मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि एक महिला ने सासंद प्रतिनिधि से अच्छी जान-पहचान बताते हुए 13 युवाओं से सचिवालय, कोषागार, पर्यटन विभाग, आबकारी आदि विभागों में नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपये ठग लिए।

मामला सामने आने के बाद एसएसपी ने कोतवाली नेहरू कॉलोनी को इस मामले में पीड़ितों से तहरीर लेकर तुरंत मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। नेहरू कॉलोनी पुलिस इस संबंध में पीड़ितों से संपर्क करने में जुटी है।

पिछले वर्ष सचिवालय, उत्तराखंड लोक सेवा आयोग, अपर निजी सचिव परीक्षा-2017 के अंतर्गत उत्तराखंड सचिवालय और उत्तराखंड लोक सेवा आयोग में कुल 122 पदों पर सीधी भर्ती के आवेदन मांगे गए थे। इसी का फायदा उठाकर पटेलनगर कोतवाली के शिमला बाईपास निवासी एक महिला ने लगभग 13 युवकों से संपर्क किया।

मंदिर में आरती जगह हुआ रोजा इफ्तार, महंत की इस पहल की हो रही सराहना

बताया कि उसकी एक सांसद प्रतिनिधि से काफी अच्छी जान-पहचान है और उसके पति भी कोषागार में कार्यरत हैं। वह उनकी नौकरी सचिवालय के साथ ही कोषागार, पर्यटन विभाग, रेशम विभाग, आबकारी विभाग आदि में लगवा सकती है। बताया जा रहा है कि इसके लिए उसने युवाओं से साढ़े तीन-साढ़े तीन लाख रुपये लिए।

इसके बाद उन्हें तीन माह में नौकरी लगाने का आश्वासन दिया। तीन माह के बाद भी जब युवाओं की नौकरी नहीं लगी तो उन्होंने महिला से संपर्क किया। पहले तो महिला किसी तरह से उन्हें टालती रही। बाद में महिला ने उन्हें चेक दिए। पीड़ितों ने जब बैंक में चेक लगाए तो वह बाउंस हो गए।

14 जून से टैक्सी-सूमो यूनियनों की अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू

पीड़ित मदन सिंह जोशी के मुताबिक इसके बाद वह महिला के घर गए तो महिला ने उन्हें धमकाना शुरू कर दिया और उन्हीं के खिलाफ पुलिस में शिकायत कर दी। उसके बाद पीड़ितों ने डीआइजी गढ़वाल से शिकायत की।

खुद को फंसता देख आरोपित महिला पहुंची एसएसपी के पास
जिस महिला पर नौकरी के नाम पर लाखों हड़पने का आरोप है वह खुद को बचाने के प्रयास में जुटी है। सोमवार को महिला खुद शिकायत लेकर एसएसपी कार्यालय पहुंच गई। बताया कि उन्हें सांसद प्रतिनिधि ने अपने संपर्क में रहने वाले युवाओं से पैसे लेने को कहा था।

उत्तराखंड में 22 जून को पहुंचेगा मानसून, प्री मानसून बारिशें मौसम को सुहावना कर रही

महिला के मुताबिक उन्हीं के कहने पर उसने 13 लोगों से पैसे लिए थे। लेकिन, सांसद प्रतिनिधि ने पैसे ले लिए और नौकरी भी नहीं लगाई। महिला ने एसएसपी से मिलने के लिए बाकायदा मुख्यमंत्री आवास से फोन भी करवाया था। एसएसपी से मिलकर महिला ने इस संबंध में मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

पीड़ितों की तहरीर पर दर्ज होगा मुकदमा
आरोपित महिला ने इस मामले में सासंद प्रतिनिधि के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है वहीं पीड़ित आरोपित महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग कर रहे हैं। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि महिला से पहले पीड़ितों की तहरीर ली जाए और जांच कर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

इंटरनेट डाउन होने से जनाधार में 10 दिन से काम-काम ठप, लोग परेशान, प्रशासन बेपरवाह

बताया कि महिला खुद इस मामले में आरोपित है। महिला जिस सांसद प्रतिनिधि का नाम ले रही है, पीड़ितों से न तो उसने मुलाकात की और न ही पीड़ितों ने उसे पैसे दिए। सारा लेन-देने का काम महिला ने किया है। इसलिए महिला के खिलाफ ही कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी ने बताया कि इस संबंध में थाना नेहरू कॉलोनी को पीड़ितों से संपर्क करने को कहा गया है।