नकली पुलिस वालों ने लूटा, असली ने मदद से किया मना

203

बुधवार रात गौलापुल से सौ मीटर गौलापार की तरफ पिकअप चालक बदमाशों का शिकार बन बैठा। खुद को कोतवाली का दारोगा बताने वाले तीन युवकों ने फायर झोंकने के साथ ही उससे नकदी लूट ली। पीड़ित जब पुल पर खड़े पुलिसकर्मियों से मदद मांगने पहुंचा तो उन्होंने थाने जाकर दुखड़ा बताने को कह दिया, जिससे काफी देर तक पीड़ित को भटकना पड़ा।

रामपुर रोड जीतपुर नेगी निवासी सौरभ पंत की पिकअप बहेड़ी निवासी सूरज गिरी चलाता है। सौरभ ने बताया कि बुधवार रात सूरज एक श्रमिक के साथ सितारगंज माल छोड़ने गया था। रात में सूरज ने फोन कर बताया कि गाड़ी में दिक्कत आने से वह आगे नहीं बढ़ पा रही, जिसके बाद सौरभ टिप्पर लेकर पिकअप को खींचने निकल दिया।

सितारगंज सिडकुल पहुंचने पर सूरज ने फोन कर बताया कि अब गाड़ी ठीक हो गई है, जिसके बाद दोनों हल्द्वानी आने लगे। इस बीच कुंवरपुर चौराहे से पुल की तरफ बाइक सवार तीन युवकों ने गाड़ी रोकने का इशारा किया तो चालक ने डर के मारे नहीं रोकी। कुछ दूर पीछा करने के बाद युवकों ने आगे बाइक खड़ी कर पिकअप रुकवा ली। इनमें से एक ने खुद को कोतवाली में तैनात दारोगा बताया और कागज दिखाने के साथ ही पैसे भी मांगे।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए : अटल आयुष्मान योजना में अस्पतालों से पांच गुना तक होगी रिकवरी

सादे कपड़ों में होने से सूरज को शक हुआ तो उसने तुंरत पीछे से आ रहे मालिक को फोन कर दिया। लेकिन मालिक के पहुंचने से पहले बदमाशों ने तमंचे के बल पर चालक से साढ़े तीन हजार की नगदी व डीएल छीन ली। इस बीच सौरभ भी मौके पर पहुंच गया।

उसने बताया कि दो हवाई फायर कर बदमाश बाइक से स्टेडियम की तरफ फरार हो गए, जिसके बाद मालिक व चालक पुल पर पहुंचे और वहां खड़े पुलिसकर्मियों को आपबीती बताकर मदद की गुहार लगाई। सौरभ के मुताबिक घटनास्थल पर जाने की बजाय उन्हें थाने जाने को कहा गया। फिर घर का पता पूछकर टीपीनगर चौकी में सुनवाई की बात कही। वहीं रात में टीपीनगर पहुंचने पर पुलिसकर्मियों ने कहा कि एरिया उनके क्षेत्र का नहीं, जिसके बाद पिकअप मालिक अपने रिश्तेदार पार्षद रवि जोशी को लेकर बनभूलपुरा थाने पहुंच गए।

एरिया काठगोदाम थाने का होने से रात में वहां सूचना दी। एसओ काठगोदाम कमाल हसन ने बताया कि लूट का मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपितों की धरपकड़ को अभियान चलाया गया। गाड़ी नंबर पता होने से कई जानकारी मिली है। जल्द बदमाश गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। अपना एरिया पता लगते ही काठगोदाम थाना एक्टिव

लूट की घटना होने के बाद पिकअप मालिक व चालक रात में भटकते रहे। जल्द उनकी सुनवाई तक नहीं हुई। हालांकि जैसे ही बनभूलपुरा थाना पुलिस ने काठगोदाम थाने को सूचना दी। वहां की पुलिस रात में ही पीड़ित को साथ लेकर घटनास्थल पर पहुंच गई।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए :  सड़क हादसे में युवक की मौत