दून अस्पताल में नौकरी के लिए फर्जी नियुक्ति पत्र और आईकार्ड देकर पैसे ऐंठने वाली युवती की तलाश

395

दून अस्पताल में नौकरी के लिए फर्जी नियुक्ति पत्र और आईकार्ड देकर तीन युवतियों से पैसे ऐंठने वाली युवती का मंगलवार को कुछ पता नहीं चला। अस्पताल प्रशासन ने सुरक्षाकर्मियों को युवती के अस्पताल में दिखने पर तुरंत पुलिस को सौंपने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें:  उत्तराखंड : प्रीति जिंटा ‘अपनी’ 34 बेटियों को भूल गईं , राह देखती रह गई बच्चियां

अस्पताल में सोमवार को जिस युवती का नाम फर्जीवाडे में शामिल बताया गया, वह लंबे समय से अस्पताल में घूमती रहती है। अक्सर एप्रिन पहनकर वह चिकित्सकों के कक्ष और नर्सों के साथ घूमती दिखती थी। सोमवार को मामला सामने आने के बाद अस्पताल प्रशासन ने सुरक्षाकर्मियों को उस पर नजर रखने के निर्देश दिए थे। साथ ही दिखने पर तुरंत पुलिस को सूचना देने को कहा गया। हालांकि मंगलवार पूरे दिन वह युवती अस्पताल में नजर नहीं आई। बताया जा रहा है कि वह युवती इन दिनों ज्यादातर समय प्लास्टर रूम में बैठी रहती है। अस्पताल के एक फार्मेसिस्ट से युवती की नजदीकी को लेकर भी तमाम तरह की चर्चाएं हो रही हैं।

इस पूरे प्रकरण में अस्पताल के कुछ कर्मचारियों की भूमिका भी संदिग्ध बताई जा रही है। माना जा रहा है कि उनके संरक्षण में ही युवती ने अस्पताल के फर्जी नियुक्ति पत्र और आईकार्ड तैयार किए। युवती की कुछ चिकित्सकों से भी नजदीकी बताई जा रही है, जिसका उसने फर्जीवाडा करने में फायदा उठाया।

कुछ समय पहले एक पूर्व सीएमओ का नाम भी नियुक्ति के नाम पर पैसे मांगने के मामले में उछला था। हालांकि बाद में उनकी कोई भूमिका नहीं मिली थी। तब भी इसी युवती की भूमिका को लेकर सवाल उठाए गए थे। बताया गया कि सीएमओ के नाम पर इसी युवती ने लोगों से पैसे लिए थे।

यह भी पढ़ें: प्रेमी को पाने के लिए पति को दी दर्दनाक मौत