शर्मनाक: चोरों ने पुलिस चौकी में ही लगाई सेंध पुलिस स्टेशन में ही की चोरी

225

शहर में चोरी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। आलम यह है कि चोरों ने घर व दुकान के बाद अब सीधे पुलिस चौकी को ही निशाना बना लिया। नशे के लिए चोरों ने पहाडग़ंज की अस्थाई पुलिस चौकी की खिड़की तोड़कर हजारों का सामान चुरा लिया। इसका पता चलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने तीन चोरों को गिरफ्तार कर चोरी का सामान बरामद कर लिया। बाद में पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया।

शहर में आपराधिक वारदात पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस महकमे ने पहाडग़ंज, भदईपुरा, खेड़ा, जगतपुरा में अस्थाई पुलिस चौकी बनाई हैं। पहाडग़ंज अस्थाई चौकी में फिलहाल कोई तैनाती नहीं थी और ताला लगा हुआ था। जहां पर पंखा, आरटी सैट बैटरी समेत आदि सामान रखा हुआ है। कोतवाल कैलाश भट्ट ने बताया कि शुक्रवार रात चोरों ने पहाडग़ंज चौकी की खिड़की की जाली तोड़कर हजारों का सामान चुरा लिया।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए :  73 हजार छात्र हुए कम जेईई एडवास्ड के लिए

बाद में पुलिस कर्मी गश्त करते हुए पहाडग़ंज पहुंचे तो चौकी की खिड़की की जाली कटी हुई मिली। जब अंदर गए तो एक पंखा और आरटी सैट बैटरी गायब थी। इस पर गश्त कर रहे पुलिस कर्मियों ने अधिकारियों को सूचना दी। साथ ही पुलिस ने चोरोंकी तलाश शुरू कर दी। कोतवाल कैलाश भट्ट ने बताया कि शनिवार देर रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने किच्छा रोड कल्याणी नदी पुल के पास से तीन युवकों को पकड़ लिया।

पूछताछ में उन्होंने चौकी में चोरी की बात कबूल की। साथ ही उनकी निशानदेही पर पुलिस ने चौकी से चोरी सामान बरामद कर लिया। पुलिस पूछताछ में उन्होंने अपना नाम रम्पुरा निवासी अंशुल पुत्र भगवान सहाय, पहाडग़ंज निवासी सद्दाम पुत्र साबिर तथा खेड़ा निवासी सगीर पुत्र अजीज अहमद बताया। बताया कि वह नशे के लिए चोरी करते हैं। बाद में पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

वही दूसरी तरफ़ कुछ ऐसा हुआ पढ़िए :  भाजपा ने कांग्रेस के आंदोलन पर किया पलटवार