मोटर फुंकने से दून शहर की कई कॉलोनियों में पेयजल संकट

381

शहर के कई इलाकों में पेयजल का संकट बना हुआ है। विभिन्न नलकूपों के मोटर फुंकने से ओवरहेड टैंक खाली हैं और आपूर्ति ठप। शिकायत के बाद कहीं जल संस्थान के कर्मी पहुंच रहे तो कहीं सुधलेवा कोई नहीं। दून में लगातार बढ़ रही पेयजल समस्या से जल संस्थान के भी हाथ-पांव फूलने लगे हैं।

डिमांड सामान्य होने के बावजूद शहर में पेयजल किल्लत हो रही है। ऐसा नहीं की पानी की उपलब्धता कम है। लेकिन, आए दिन नलकूप के मोटर फुंकने से आपूर्ति बाधित हो रही है। इसके बाद शिकायत करने पर पहले तो जल संस्थान की ओर से समय पर सुध ही नहीं ली जाती। इसके बाद कर्मचारियों को मौके पर भेजा भी जाए तो मोटर दुरुस्त करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। ऐसे में एक-दो दिन तो कहीं सप्ताहभर तक पेयजल की किल्लत बनी रहती है।

इन क्षेत्रों में आ रही ज्यादा दिक्कत 

पितांबरपुर क्षेत्र में नलकूप का मोटर फुंका हुआ है। शिकायत पर जल संस्थान के कर्मचारी पहुंचे, लेकिन दिनभर मशक्कत के बावजूद मोटर दुरुस्त नहीं हो पाया। अधिकारियों ने जल्द ही मोटर ठीक कर आपूर्ति सुचारू कराने का आश्वासन दिया है। यहां पितांबरपुर, बनियावाला, शुक्लापुर आदि क्षेत्रों की बड़ी आबादी पेयजल से वंचित है। त्रिमूर्ति विहार में भी नलकूप में खराबी आने के कारण आपूर्ति बाधित है।

यहां लंबे समय से पुराने नलकूप में खराबी है और कोई इसकी सुध लेने वाला नहीं। फिलहाल यहां दूसरे नलकूप से आपूर्ति की जा रही है, लेकिन यहां से क्षेत्र में दूषित पानी पहुंच रहा है। उधर, नालापानी क्षेत्र में भी मोटर फुंकने से डीएल रोड, करनपुर के कुछ क्षेत्रों में पानी की किल्लत बनी हुई है। इसके अलावा इंदिरापुरम कॉलोनी में भी लो प्रेशर के कारण लोग परेशान हैं।

बोले अधिकारी

राजेंद्र पाल (अधिशासी अभियंता, पित्थूवाला) का कहना है कि कुछ क्षेत्रों में पर नलकूप के मोटर फुंकने की सूचना मिली थी। जिन्हें ठीक कराया जा रहा है। अधिकांश क्षेत्रों में सप्लाई सुचारू कर दी गई है। त्रिमूर्ति विहार में नलकूल को ठीक करने का कार्य चल रहा है, लेकिन यहां वैकल्पिक व्यवस्था की गई है।

यह भी पढ़े :  LockDown-5.0 : CM योगी आदित्यनाथ बोले-नया टैक्स नहीं लगाएगी सरकार, जनता को रियायत देने पर जोर