आधी रात देहरादून की सड़क पर निकले डीएम

26

दून में स्मार्ट सिटी के तहत तमाम काम चल रहे हैं। त्योहारी सीजन को देखते हुए निर्माण कंपनियों को रात में काम की गति बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि जनता को परेशानी न हो। इन निर्देशों का पालन किया जा रहा है या नहीं, यह जानने के लिए जिलाधिकारी व स्मार्ट सिटी कंपनी के सीईओ डॉ. आशीष श्रीवास्तव अचानक शुक्रवार रात सड़क पर उतर पड़े। इसकी जानकारी मिलती ही अधिकारियों व निर्माण कंपनी के पदाधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में वह भी निर्माण साइटों की तरफ दौड़ पड़े। हालांकि, जिलाधिकारी डॉ. श्रीवास्तव ने रात को काम की गति ठीक-ठाक पाई।

सीईओ व जिलाधिकारी डॉ. श्रीवास्तव ने स्मार्ट रोड, परेड ग्राउंड के पुनर्जीवीकरण व पलटन बाजार में डक्ट निर्माण के कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने निर्देश दिए कि जितना अधिक काम हो, उसे रात को पूरा किया जाए। साथ ही गुणवत्ता के साथ काम की गति बढ़ाने को भी कहा गया। परेड ग्राउंड के कार्य का जायजा लेते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि 26 जनवरी की परेड इसी मैदान में होनी है।

यह भी पढ़े :    हरक सिंह के चुनाव न लड़ने के बयान पर नेता प्रतिपक्ष ने जताई हमदर्दी, बोलीं- हम कहेंगे चुनाव लड़ें

लिहाजा, इसी लक्ष्य के अनुरूप मैदान को दुरुस्त करने का काम तेज गति से किया जाए। स्मार्ट रोड के निरीक्षण में जिलाधिकारी ने मॉडल के रूप में बहल चौक से नैनी बेकरी तक के हिस्से को सबसे पहले तैयार करने को कहा। ताकि शहरवासियों के समक्ष उदाहरण रखा जा सके कि भविष्य की स्मार्ट रोड कैसी होगी। उन्होंने निर्देश दिए कि इस समय जहां सीवर लाइन डाली जा रही है, वहां सड़क की मरम्मत को प्राथमिकता में रखा जाए।

इसके अलावा पलटन बाजार में डक्ट निर्माण में जनता की सुविधा का सबसे अधिक ध्यान रखने को कहा गया। डॉ. श्रीवास्तव ने कहा कि इस बाजार में भीड़भाड़ सर्वाधिक रहती है, लिहाज रात में अधिक से अधिक काम करते हुए दिन के समय सड़क को आवाजाही के लिए अधिक से अधिक बेहतर स्थिति में रखा जाए।