कॉर्बेट नेशनल पार्क की 15 फर्जी वेबसाइटें पकड़ी, सीटीआर प्रशासन ने सभी को जारी किया नोटिस

174

कॉर्बेट पार्क की फर्जी वेबसाइटों की वजह से पर्यटक ठगी का शिकार हो रहे हैं। सीटीआर प्रशासन ने ऐसी 15 फर्जी वेबसाइट चिह्नित कर एडवोकेट के माध्यम से इन वेबसाइट को नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि, वे कॉर्बेट के नाम पर किए जाने वाले दावों को तत्काल हटाएं। ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। गो डैडी वेबसाइट के डोमिन पर चलने के कारण गो डैडी वेबसाइट को भी नोटिस भेजा है।

सीटीआर निदेशक संजीव चतुर्वेदी ने बताया कि कॉर्बेट नेशनल पार्क की ओरिजनल वेबसाइट www.corbettonline.uk.gov.in है। इस वेबसाइट के माध्यम से पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग कराते हैं, लेकिन लंबे समय से कॉर्बेट के नाम पर फर्जी वेबसाइट संचालित हो रही है।

 इस खबर को भी पढ़िए :  उत्तराखंड में चमकी बुखार को लेकर अलर्ट, सीएस ने जारी किए सभी जिलों को एहतियात बरतने के निर्देश

इन वेबसाइट की वजह से पर्यटक ठगी के शिकार हो रहे है और एक परमिट दो-दो पर्यटकों को आवंटित हो रहा है। ऐसी फर्जी वेबसाइट पकड़ने के लिए सीटीआर ने एक टीम गठित की।

गठित टीम के सदस्यों ने पर्यटक बनकर इन फर्जी वेबसाइटों पर दर्ज मोबाइल नंबरों पर फोन कर उनके सही पते की जानकारी ली। टीम ने 15 ऐसी फर्जी वेबसाइट पकड़ी हैं जो गो डैडी वेबसाइट के डोमिन पर चल रही हैं।

इन फर्जी वेबसाइटों में www.jimcorbettnationalpark.co.in, www.jimcorbettbooking.in, www.corbettnationalpark.com, www.corbettnationalpark.in हैं। इन सभी को सीटीआर के निर्देश पर एडवोकेट ललित मोहन तिवारी ने लिगल नोटिस जारी किया है, जिसमें आईपीसी 420, आईटी एक्ट व कॉपीराइट के प्रावधानों को उल्लंघन करने की बात कही है।

अधिकारियों ने बताया कि ये वेबसाइट फर्जीवाड़े से कॉर्बेट के नाम का इस्तेमाल करके लोगों की बुकिंग करा रही थीं और उन्हें ठग रही थी। अक्सर ऐसा होता है कि इन पोर्टल को चलाने वाले लोग पर्यटकों को मुख्य अभयारण्य ले ही नहीं जाते थे।

 इस खबर को भी पढ़िए :  ओलंपिक संघ पहाड़ से प्रतिभाओं को निकालने के लिए करेगा प्रयास