Coronavirus: अहमदाबाद से प्रवासियों को लेकर हरिद्वार पहुंची श्रमिक स्पेशल

298

पुणे, सूरत और बंगलुरु के बाद अब उत्तराखंड के प्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल अपने निर्धारित समय से करीब पांच घंटे विलंब से हरिद्वार रेलवे स्टेशन पहुंची। पुलिस प्रशासन ने तालियां बजाकर प्रवासी यात्रियों का अभिवादन किया।

शारीरिक दूरी मानकों का पालन कराते हुए सत्यापन के बाद यात्रियों को स्टेशन परिसर में लाया गया। जहां रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी जिले के प्रवासियों को छोड़ बाकी को उनके गृह जनपदों के लिए भेज दिया गया।

यह भी पढ़े :   80 साल की दर्शनी देवी जज्बा आपको भी कर देगा हैरान, 10 किमी पैदल चल पहुंची बैंक; पीएम केयर्स फंड में दी पूरी पेंशन

प्रदेश सरकार की ओर से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासियों को श्रमिक स्पेशल से लाने की कवायद के क्रम में चौथी श्रमिक स्पेशल गाड़ी संख्या (09267) प्रवासियों को लेकर हरिद्वार पहुंची। प्रवासियों के जूते, चप्पल आदि सेनिटाइज कराये गये। हरिद्वार के प्रवासियों की जहां थर्मल स्क्रीनिंग हुई वहीं दूसरे जिलों के प्रवासियों को सत्यापन के बाद स्टेशन परिसर में लाया गया। पर्वतीय जिलों के प्रवासियों को छोड़ बाकी को रोडवेज बसों के जरिये उनके गृहजनपदों के लिये रवाना किया गया।

इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल सिंह चौहान, सीडीओ विनीत तोमर, सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी, एडीएम वित्त एवं राजस्व केके मिश्र, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एएसपी जीआरपी मनोज कत्याल, एआरटीओ मनीष तिवारी, सुरेंद्र सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, तहसीलदार आशीष घिल्डियाल, सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह, रोडवेज हरिद्वार डिपो के एजीएम प्रतीक जैन, स्टेशन अधीक्षक एमके सिंह,सीएमआइ वीएस रावत आदि मौजूद रहे।

रेलवे की व्यवस्थाओं की सराहना की 

जेडयूआरसीसी मेंबर सरिता अग्रवाल ने रेलवे की व्यवस्थाओं की सराहना की। कहा कि रेलवे के अधिकारी और कर्मचारी पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम कर रहे हैं। प्रवासियों को किसी भी तरह की कोई दिक्कत न हो इसका भी भरपूर ख्याल रख रहे हैं।

सर्वाधिक यात्री टिहरी गढ़वाल के

जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन से 1407 प्रवासियों ने आने की इच्छा जताई थी। इनमें चमोली के 237, देहरादून के 133, हरिद्वार के 48, नैनीताल के 78, पौड़ी के 171, रुद्रप्रयाग के 249, टिहरी के 310, उत्तरकाशी के 83 और उधमसिंहनगर के 98 प्रवासी थे। 944 लोगों को उनके घर भेजा जा चुका है। रुद्रप्रयाग व चमोली के प्रवासियों को रोक गया है।

तीन जिलों के प्रवासी रोके

रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी और चमोली जिले के प्रवासियों को हरिद्वार में ही रोका गया है। वाटिका फार्म हाउस में रुद्रप्रयाग के 100 जबकि उत्तरकाशी के 83 लोगों को ठहराया गया है। वहीं प्रेमनगर आश्रम में चमोली के 237 लोगों के रुकने की व्यवस्था की गई है। निर्मल फार्म हाउस में भी रुद्रप्रयाग के 150 लोगों को ठहराया गया है।

सांई रसोई ने कराया अल्पाहार

सांई रसोई की ओर से अहमदाबाद से आए प्रवासियों को फल, जूस, पेटीज बच्चों के लिए दूध आदि का वितरण किया गया। संस्थापक पंकज सिंघल के अलावा मुकेश सिंह, नितिन चौहान, मोहित गर्ग, मुकेश गुप्ता, नीटू सिंह, दिव्यांश सिंघल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़े :   कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशाना, कहा-प्रवासियों को होम क्वारंटाइन का फैसला गलत