Corona in Dehradun : पुरानी व्यवस्था लागू, आज खुला देहरादून, कल केवल बाजार बंद रहेगा

218

देहरादून शहर में फिर से पुरानी व्यवस्था लागू हो गई है। इसके तहत अब दो दिन का लॉकडाउन नहीं रहेगा। दून शहर में सिर्फ रविवार को केवल बाजार व दुकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

हालांकि इस बार भी पेट्रोल पंप, मेडिकल स्टोर, डेयरी, गैस एजेंसी, टिफिन सर्विस, लाइसेंसधारक मीट-मछली की दुकानें, औद्योगिक इकाइयां और अस्पतालों की ओपीडी खुली रहेगी।

यह भी पढ़े :    नोएडा को मिला 400 बेड का Covid-19 अस्पताल, सीएम योगी ने किया उद्घाटन

साथ ही बेकरी और होम डिलीवरी सेवा भी संचालित होगी। इसके अलावा विक्रम, ऑटो, सिटी बसें भी चलेंगी। इसके अलावा जिले की सभी तहसीलों में तय दिन पर बाजार बंद रहेंगे।

डीएम डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि शासन से अगले आदेशों तक 11 जुलाई को जारी आदेश के तहत इस बार यह व्यवस्था लागू की जाएगी। बताया कि देहरादून में रविवार को नगर निगम क्षेत्र देहरादून, छावनी परिषद गढ़ी कैंट व क्लेमेंटटाउन तथा त्यूनी क्षेत्र के बाजार बंद रहेंगे।

वार्डों को किया जाएगा सैनिटाइज

वहीं, नगर निगम ऋषिकेश में बृहस्पतिवार, मसूरी नगर पालिका तथा चकराता क्षेत्र में बुधवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी। विकासनगर, हरबर्टपुर, कालसी और साहिया क्षेत्र के बाजार शुक्रवार को बंद रहे। डोईवाला नगर पालिका क्षेत्र, सहसपुर व सेलाकुई के बाजार बुधवार को बंद रहेंगे।

रविवार को नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायत की ओर से वार्डों को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके अलावा जहां बाजारों की साप्ताहिक बंदी किसी और दिन है, वह भी खुले रहेंगे। लोग मॉर्निंग वॉक पर भी कर सकेंगे। वाहन भी चलेंगे।

वहीं, निर्माण कार्य एवं औद्योगिक इकाइयां भी संचालित होंगी। सोमवार से पुरानी व्यवस्था फिर से लागू हो जाएगी। डीएम डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने लोगों से घर में ही रहने की अपील की। कहा कि बच्चे और बुजुर्ग किसी भी सूरत में घर से बाहर न निकलें। बताया कि आदेशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

लॉकडाउन हटाने के फैसले का व्यापारियों ने किया स्वागत

कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के चार जिलों में सप्ताह में दो दिन लॉकडाउन के फैसले को सरकार ने वापस ले लिया है। अब केवल रविवार को पूर्व की भांति साप्ताहिक बंदी रहेगी। प्रदेश सरकार के इस फैसले का व्यापारियों ने स्वागत किया है। कहा कि दो दिन का आधा-अधूरा लॉकडाउन व्यावहारिक नहीं था।

शुक्रवार को प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्ष नवीन वर्मा ने कहा कि दो दिन के लॉकडाउन का व्यापार मंडल विरोध कर रहा था। क्योंकि इसमें केवल बाजारों को बंद रखा गया था। शराब के ठेके और वाहनों का आवाजाही प्रतिबंधित नहीं थी। केवल व्यापारियों के लिए ही इसे बंद रखा गया था।

व्यापार मंडल ने प्रदेशभर में विरोध दिवस मनाकर इस फैसले को समाप्त करने के लिए मुख्यमंत्री को प्रतिवेदन भी दिया था। उधर, दून उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री सुनील मैसोन ने कहा कि सरकार के इस फैसले से व्यापारियों को राहत मिलेगी।

दून वैली उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज मैसोन ने कहा कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूरा लॉकडाउन होना चाहिए था। लेकिन सरकार ने सोच-समझकर फैसला लिया होगा। इससे व्यापारियों को फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़े :   UNSC में भारत का कड़ा रुख, कहा- दाऊद इब्राहीम, लश्कर तैयबा और जैश-ए- मोहम्‍मद पर हो IS जैसी कार्रवाई