कांग्रेस का NIA पर सरकार से मिलीभगत का आरोप, कहा- नोटिस से नहीं डरेंगे किसान

33

कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि एनआइए जैसी जांच एजेंसियां सरकार के हाथों की कठपुतली बन गई हैं। इनका इस्तेमाल अब किसानों के खिलाफ किया जा रहा है, लेकिन किसान इनके नोटिस से डरने वाले नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने प्रतिबंधित संगठन सिख फार जस्टिस (एसएफजे) मामले की जांच के सिलसिले में दर्जनभर से ज्यादा लोगों को नोटिस भेजे हैं। इन लोगों में एक पत्रकार, नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन से जुड़े किसान नेता और अन्य शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :   सर्जिकल स्ट्राइक से लोगों में आया विश्वास, मोदी सरकार के नेतृत्व में देश सुरक्षित : शाह

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘अब सरकार किसानों को ऐसी एजेंसियों के माध्यम से नोटिस भेजती है जो आतंकवादियों के खिलाफ जांच करती हैं। किसानों को आतंकवादी, नक्सली और चीन व पाकिस्तान का एजेंट कहने के बाद मोदी सरकार की मंशा क्या है? मोदीजी आप क्या साबित करने की कोशिश कर रहे हैं?’ उन्होंने कहा कि किसानों को एनआइए जैसी कठपुतली एजेंसी के फर्जी नोटिस न तो डिगाएंगे और न ही डरा पाएंगे। सुरजेवाला ने आगे कहा, ‘मोदीजी को समझना चाहिए कि अनाज मंडियों में छोटे दुकानदारों पर आयकर के छापों तथा किसानों एवं पत्रकारों को एनआइए या सीबीआइ के नोटिस से किसान डरेंगे नहीं। हम तब तक प्रदर्शन जारी रखेंगे, जब तक तीन काले कानून वापस नहीं ले लिए जाते।’