उत्तराखंड के सीएम बोले, पीएम हो या साधारण व्यक्ति, नियम सबके लिए एक

184

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि नियम सबके लिए एक समान हैं। चाहे वह प्रधानमंत्री हों या फिर एक साधारण व्यक्ति, सबको नियम मानने चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत जैसे वरिष्ठ नेता को चाहिए कि वे नियमों को न तोड़ें। राजनीति करने के लिए आगे बहुत वक्त मिलेगा। अभी सबको पूरी ताकत कोरोना से लड़ने में लगानी चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा बीते रोज महंगाई को लेकर किए गए प्रदर्शन और फिर उन दर्ज मुकदमों को लेकर मंगलवार को राजभवन कूच के कदम पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि हरीश रावत हों या फिर कोई अन्य राजनीतिक व्यक्ति, सबको सावधान रहना चाहिए। जनता सब देखती व समझती है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में बुल्गारिया में वहां के प्रधानमंत्री पर सार्वजनिक स्थान पर मास्क न पहनने पर जुर्माना लगाया गया। गुजरात के एक मंत्री पर भी सार्वजनिक स्थान पर मास्क न पहनने पर कार्यवाही की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने संबोधन में कहा कि चाहे प्रधानमंत्री हो या फिर कोई साधारण व्यक्ति, नियम सबके लिए एक जैसे हैं।

उन्होंने कहा कि हरीश रावत एक वरिष्ठ नेता हैं, वह ऐसा न करें। इसका कोई फायदा भी नहीं है। उधर, भाजपा ने भी पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत समेत कांग्रेस नेताओं के धरना-प्रदर्शन पर पलटवार किया। नैनीताल से सांसद एवं भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि काग्रेस नेता कोरोना महामारी के दौर में जनजीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं। यह कृत्य राजनीतिक नौटंकी से अधिक नहीं है।

उन्होंने कहा कि कानून से ऊपर कोई नहीं है। सबको कानून का पालन करना चाहिए। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. देवेंद्र भसीन ने कांग्रेस नेताओं के प्रदर्शन को लोगों के जीवन से खिलवाड़ बताया। उन्होंने कहा कि अब उत्तराखंड में ‘न खाता न बही’ का दौर न होकर कानून व्यवस्था का दौर है। यदि कोई कानून का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई तो होगी ही। फिर चाहे वह कोई भी क्यों न हो।

यह भी पढ़े :    LPG Price Increased: दूसरे महीने फिर महंगा हुआ रसोई गैस सिलेंडर