सीएम ने वाई-शेप फ्लाइओवर का किया उद्घाटन, अब फर्राटा भरने लगे वाहन

411

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आइएसबीटी वाई-शेप फ्लाइओवर का उद्घाटन किया। इस दौरान सीएम ने कहा कि फ्लाइओवर के डिजाइन को लेकर चिंता जताई जा रही है, ऐसे में इंजीनियर इस ओर ध्यान दें।

आइएसबीटी में बने वाई-शेप फ्लाइओवर पर अब वाहन फर्राटा भर सकेंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इसका उद्घाटन कर लिया है। सीएम ने कहा कि ये फ्लाईओवर शहर के विकास में महत्वपूर्ण होगा। उनका कहना है कि आइएसबीटी में सर्विस लेन से लेकर पानी की निकासी की पूरी व्यवस्था की जाएगी। इस दौरान जमीन का अधिग्रहण करने की सहमति भी सीएम ने दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रेमनगर में सड़क चौडीकरण की समस्या जल्द दूर होगी। यहां फोरलेन सड़क बनाने की समस्या दूर हो जाएगी।

इस खबर को भी पढ़िए :  भाजपा नेता के पेट्रोल पंप के सेल्समैन से 33 लाख लूटे, आंख में झोंकी मिर्च

पर्यटकों की सुविधाओं का रखना होगा ध्यान

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में चारधाम यात्रियों के साथ पर्यटकों की रिकॉर्ड भीड़ जुटी है। इससे कुछ अव्यवस्था बनी है। भविष्य में इसके लिए मानसिक रूप और योजना बनानी होगी। पर्यटक सुविधाएं बढ़े इस पर अभी से ध्यान देना होगा। खासकर रहने की व्यवस्था, सड़क, पार्किंग को नया प्लान बनाना होगा। सीएम ने पर्यटकों की भीड़ को युवाओं के लिए रोजगार के नज़र से भी देखने को कहा है। युवा पर्यटन उधोग पर अपनी योजनाएं बनाएं।

आपको बता दें कि लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग खंड ने आइएसबीटी के पास सहारनपुर रोड पर बने फ्लाईओवर को जोड़ते हुए हरिद्वार रोड पर वाई-शेप फ्लाईओवर का निर्माण कराया। पिछले डेढ़ साल से चल रहा निर्माण अप्रैल प्रथम सप्ताह में पूरा हो गया था। छह सौ मीटर लंबे इस वाई-शेप फ्लाईओवर पर करीब 33 करोड़ 26 लाख रुपये खर्च हुए। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता के चलते डेढ़ माह से इसका उद्घाटन रुका हुआ था। राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के अधीक्षण अभियंता राजेश चंद्र शर्मा ने बताया कि सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सुबह साढ़े दस बजे वाई-शेप फ्लाईओवर का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद फ्लाईओवर पर आवाजाही शुरू हो जाएगी।

वाई-शेप के जंक्शन पर खतरा

हरिद्वार रोड और सहारनपुर रोड पर बने फ्लाईओवर को जहां आपस में जोड़ा गया है, वहां दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। जंक्शन पर दोनों फ्लाईओवर के निकासी सर्विस लेन को सिंगल लेन किया गया है। ऐसे में डबल लेन फ्लाईओवर पर तेज रफ्तार से आने वाले वाहन मुहाने पर ओवर टेक करते वक्त दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं। खासकर रात्रि में दुर्घटना की ज्यादा संभावनाएं हैं। इससे यह फ्लाईओवर बल्लीवाला से ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। इसके लिए समय पर सुरक्षा के जरूरी इंतजाम किए जाने जरूरी हैं।

इस खबर को भी पढ़िए परीक्षा परिणाम के डर से खुदकुशी करने वाला छात्र सभी विषयों में पास निकला