एसटीएफ हाई प्रोफाइल लूटकांड में जल्द दाखिल हो सकती है चार्जशीट

713

एसटीएफ हाई प्रोफाइल लूटकांड के आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ एक-दो दिन में आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल कर सकती है। आरोप पत्र दाखिल करने की शासन से मंजूरी पिछले सप्ताह ही मिल चुकी है।

बता दें, बीते चार अप्रैल को प्रॉपर्टी डीलर अनुरोध पंवार निवासी कैनाल रोड, बल्लूपुर से आइजी की सरकारी गाड़ी सवार तीन लोगों ने काले रंग का बैग लूट लिया था। मामले में कांग्रेसी नेता अनुपम शर्मा, निलंबित दारोगा दिनेश नेगी, सिपाही मनोज अधिकारी व हिमांशु उपाध्याय के खिलाफ दस अप्रैल को डालनवाला कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया था।

 इस खबर को भी पढ़िए : पश्चिम बंगाल में महिला डॉक्टर से हिंसा के विरोध में देहरादून डॉक्टर आज हड़ताल पर

सभी को 16 अप्रैल को गिरफ्तार कर अगले दिन जेल भेज दिया गया था। कई दिनों तक चर्चा में रहे इस लूट कांड में आइजी गढ़वाल की सरकारी स्कॉर्पियो का इस्तेमाल किया गया था। फिलहाल सभी आरोपित जमानत पर बाहर हैं। एसटीएफ की जांच भी करीब पूरी हो चुकी है। बता दें कि निलंबित दारोगा दिनेश नेगी की मूल तैनाती पुलिस के अभिसूचना विभाग में है, जबकि निलंबित सिपाही मनोज अधिकारी व हिमांशु उपाध्याय की मूल तैनाती देहरादून जिले हैं।

लूट साबित करना रहेगा बड़ी चुनौती

हाई प्रोफाइल लूटकांड में लूट साबित करना ही एसटीएफ के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। वह इसलिए कि करीब दो महीने की विवेचना के बाद भी लूटा गया बैग बरामद नहीं हो सका है। ऐसे में देखना लाजिमी होगा कि एसटीएफ किन धाराओं में आरोपित पुलिस कर्मियों के खिलाफ चार्जशीट अदालत में पेश करती है।

 इस खबर को भी पढ़िए :  गांव से भागकर प्रेमी युगल पहुंचे पुलिस चौकी, शादी कर एक दूसरे के साथ रहने की जताई इच्छा