CBI की टीम जम्मू कश्मीर से लापता युवक की तलाश को पहुंची रुड़की, साल 2015 में आया था जियारत करने

20

जम्मू कश्मीर से लापता युवक की तलाश में सीबीआइ की टीम ने रुड़की में डेरा डाला हुआ है। सीबीआइ की टीम पहले कलियर पहुंची और फिर इसके बाद मंगलौर क्षेत्र में छानबीन की। आपको बता दें कि मामला साल 2015 का है।

सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस के मुताबिक जम्मू कश्मीर के राजौरी निवासी वकील वर्ष 2015 में कलियर में जियारत करने के लिए आया था। इसके बाद युवक लापता हो गया था। उसके स्वजनों ने उसकी गुमशुदगी राजौरी के थाने में दर्ज कराई थी। बाद में युवक की गुमशुदगी का मामला अपहरण में तरमीम हो गया था। इस राजौरी पुलिस युवक को तलाश नहीं कर पाई थी, जिसके बाद यह मामला सीबीआइ के पास चला गया था।

यह भी पढ़े :  हौसलों ने भरी उड़ान तो छोटा पड़ गया आसमान

गुरुवार की रात को इस मामले को लेकर सीबीआइ की टीम रुड़की पहुंची। रात को ही टीम कलियर में पहुंची और मामले की जांच की। शुक्रवार की सुबह सीबीआइ की टीम ने रुड़की पुलिस से क्षेत्र की भूगौलिक स्थिति के बारे में जानकारी जुटाई। सीबीआइ की टीम ने उन स्थानों के बारे में जानकारी ली, जहां पर गंगनहर में शव बरामद किये जाते हैं। रुड़की पुलिस ने आसफनगर झाल और मोहम्मदपुर झाल के बारे में टीम को जानकारी दी।

वहीं, इस मामले को लेकर जानकारी जुटाने के बाद टीम फिर मंगलौर क्षेत्र के लिए रवाना हो गई। आपको बता दें कि सीबीआइ की टीम दो दिन तक क्षेत्र में ही रहेगी। सिविल लाइंस कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रदीप कुमार ने बताया कि सीबीआइ टीम ने अपह्रत युवक के बारे में छानबीन की। स्थानीय पुलिस इस मामले में सीबीआइ टीम का पूरी तरह से सहयोग करेगी।

यह भी पढ़े :  मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष बने वीरेंद्र सिंह नेगी