सुरक्षा दीवार तोड़कर खाई में लुढ़की तेज रफ़्तार बस, पेड़ पर अटकी, 48 यात्री थे सवार

2157

नैनीताल से लौट रही हल्द्वानी डिपो की बस ज्योलीकोट के नंबर वन बैंड के पास अनियंत्रित होकर सड़क किनारे की सुरक्षा दीवार तोड़ते हुए खाई में जा गिरी। गनीमत रही बस पेड़ से अटक गई। बस में 48 यात्री सवार थे। हादसे में ड्राइवर, कंडक्टर समेत तीन घायल हुए हैं।

रोडवेज बस UK07-PA-3209 शनिवार शाम छह बजे नैनीताल से हल्द्वानी जा रही थी। ज्योलीकोट के नंबर वन बैंड के पास कार को बचाने के प्रयास में सुरक्षा दीवार तोड़ सड़क से नीचे पेड़ों के बीच जा फंसी। बस में सवार 48 यात्रियों की सांस अटक गई।

स्थानीय लोगों और पुलिस ने सभी यात्रियों को बस से बाहर निकाला। कुछ यात्रियों को हल्की चोटें आने पर प्राइवेट वाहनों से हल्द्वानी भेजा गया जबकि लालकुआं निवासी बस चालक महेश, रुद्रपुर निवासी परिचालक दीवान सिंह बिष्ट और एक अन्य यात्री को बीडी पांडे अस्पताल पहुंचाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने परिचालक और यात्री को छुट्टी दे दी जबकि चालक महेश का इलाज किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें – रामनगर जा रही बस दुर्घटनाग्रस्त : दो दर्जन से अधिक लोगों के हताहत होने आशंका

बेशक यह दुर्घटनायें कहीं न कहीं मानवीय भूल का नतीजा होती हैं लेकिन गौरतलब है कि उत्तराखण्ड में सड़कों के किनारे लगे पेड़ अक्सर होने वाले सड़क हादसों में फ़रिश्तों की भूमिका निभाते हैं, जिस कारण बड़ी बड़ी दुर्घटनायें होने से बच जाती हैं। पिछले कुछ महीनों में पहाड़ों पर हो रहे पेड़ों के अधाधुंध कटान की वजह से सड़कों के किनारे स्थिति खतरनाक हो गई हैं। कई जगह जहां गहरी गहरी खाईयां हुआ करती हैं वहां स्थिति और भी भयावह है।

यह भी पढ़ें – शर्मनाक : देहरादून में विक्षिप्त महिला का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म

यात्रियों ने कहा, तेज रफ्तार चल रही थी बस
रोडवेज बस में सवार कुछ यात्रियों ने बताया कि चालक महेश बस को तेज चला रहा था। इसके चलते बस हल्द्वानी से आ रही कार को बचाने के प्रयास में पैरापिट को तोड़कर पेड़ों के बीच जा फंसी।

पुलिस ने कहा 35 जबकि यात्री बोले 48 सवार थे
रोडवेज बस में सवार यात्रियों को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी रही। पुलिस ने बताया कि बस में 35 लोग सवार थे, जबकि घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने बस में 48 लोग बताए।

यह भी पढ़ें – दर्दनाक हादसा : ट्रैक्टर-ट्रक में भिड़ंत, ट्रक चालक की मौत

विधायक और एडीएम पहुंचे मौके पर
ज्योलीकोट में बस हादसे की सूचना मिलने पर विधायक संजीव आर्य, एडीएम हरवीर सिंह ने मौके पर पहुंचकर सभी घायलों का हाल जाना। यात्रियों के सही होने पर दोनों ने राहत की सांस ली।

यह भी पढ़ें – आखिर वो किसका स्वार्थ है, जो उत्तराखंड सरकार को ट्रान्सफर एक्ट पर एक्ट करने से रोक रहा है ?

यात्रियों के चप्पल-जूते घटना स्थल पर फैले थे
दुघर्टना स्थल पर कई जगह यात्रियों के जूते-चप्पल फैले थे। कई यात्री बेहद डरे-सहमे नजर आए। कुछ यात्रियों ने हादसे में बचने को जीवनदान बताया।