पारिवारिक विवाद के चलते जीजा ने गला रेतकर कर दी साले की हत्या

1054

प्रेमनगर में एक युवक ने पारिवारिक विवाद में साले का सरेराह धारदार हथियार से गला रेत दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से भाग निकला। लहूलुहान युवक को मोहल्ले वाले समीप के निजी अस्पताल ले गए, लेकिन हालत गंभीर होने के चलते चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुनील कुमार शर्मा उर्फ सोनू पुत्र स्व. सुशील कुमार शर्मा मूल रूप से सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला था। वह चार साल पहले दून आया था और यहां टैक्सी चलाता था। दून में सोनू पत्नी सपना के साथ प्रेमनगर के विंग नंबर-छह में देवेंद्र सिंह के मकान में किराये पर रहता था।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड: गोपेश्वर-पोखरी मार्ग पर खाई में गिरी कार, एक की मौत, एक घायल

प्रेमनगर में ही विंग नंबर-7 में उसकी बड़ी बहन डिंपल शर्मा भी चार बच्चों और दूसरे पति के साथ किराये पर रहती है। डिंपल की पहली शादी वर्ष 2000 में पवन शर्मा पुत्र सोमनाथ शर्मा निवासी गाजियाबाद से हुई थी। लेकिन, 2015 में नशे के आदी पवन से उसका तलाक हो गया। तब से डिंपल दून में ही रह रही हैं। यहां 2017 में उन्होंने मनीष राजपूत निवासी बनियावाला से दूसरी शादी कर ली। सोनू बड़ी बहन के परिवार की भी देखभाल करता था।

वहीं, पवन गाजियाबाद से अक्सर यहां बच्चों से मिलने के लिए आता था। इसको लेकर डिंपल और पवन में झगड़ा भी होता था। सोनू दोनों में बीच-बचाव कर देता था। सोमवार को भी पवन बच्चों से मिलने के लिए दून पहुंचा। उसका फिर से डिंपल से विवाद हो गया।

डिंपल ने इसकी सूचना भाई सोनू को दी। सोनू शाम को तकरीबन साढ़े पांच बजे डिंपल के घर पहुंचा और पवन को समझाने के लिए घर के बाहर ले आया। गुस्से में आग-बबूला पवन उस पर ही परिवार को बर्बाद करने का आरोप लगाने लगा। इस पर सोनू अपने घर की तरफ चल दिया। वह विंग नंबर सात से कुछ कदम चलकर गुरुनानक एनक्लेव के समीप पहुंचा था कि तभी पवन पीछे से पहुंचा और उसे कसकर पकड़ लिया।

सोनू कुछ समझ पाता, इससे पहले ही पवन ने किसी धारदार हथियार से उसकी गर्दन रेत दी। खून से लथपथ सोनू सड़क पर गिर पड़ा। घर के बाहर झाड़ू लगा रहे एक शख्स ने यह देखा तो शोर मचा दिया। शोर-शराबा होने पर आरोपित हथियार लहराते हुए भाग निकला। मोहल्ले वालों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी।

हत्या की सूचना पर एसपी सिटी श्वेता चौबे और एसओ प्रेमनगर धर्मेंद्र रौतेला भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। आरोपित की तलाश में पुलिस ने रेलवे स्टेशन, आइएसबीटी बस अड्डे समेत शहर से बाहर जाने वाले रास्तों पर चेकिंग शुरू कर दी, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। प्रेमनगर थाना पुलिस ने डिंपल की तहरीर पर पवन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सूचना देने के पौन घंटे बाद पहुंची पुलिस 

मोहल्ले वालों में पुलिस के प्रति आक्रोश दिखाई दिया। उनका कहना था कि शाम साढ़े पांच बजे घटना हुई। उन्होंने तुरंत 100 नंबर पर सूचना दी। इसके बावजूद पुलिस पौन घंटे बाद घटनास्थल पर पहुंची।

तलाक के बाद डिंपल के पीछे दून आया, सेलाकुई में करता था काम

सोनू के परिजनों के मुताबिक पवन आए दिन नशे में पत्नी और बच्चों के साथ मारपीट करता था। तंग आकर डिंपल ने उससे तलाक ले लिया और दून आ गई। उसके पीछे पवन भी दून आ गया और कुछ दिन तक यहां सेलाकुई में एक फैक्ट्री में काम किया। इसके बाद वह वापस गाजियाबाद चला गया। छह माह पहले भी वह बच्चों से मिलने दून आया था।

मम्मी, पापा से कहो यहां से चले जाएं

पवन की तीन बेटियां और एक बेटा धवल है। पवन बच्चों का मोह नहीं छोड़ पा रहा था। परिजनों ने बताया कि सोमवार को वह बच्चों से मिलने पहुंचा तो डिंपल से उसकी कहासुनी हो गई। इस पर बेटे धवल ने कहा कि मम्मी, पापा से कहो यहां से चले जाएं। डिंपल ने पवन को घर से निकालने के लिए सोनू को फोन किया था।

गर्भवती है सोनू की पत्नी

सोनू तीन बहनों में इकलौता था। पिता की मौत के बाद वह सभी बहनों का भी ख्याल रखता था। हाल ही में उसकी शादी सपना से हुई। फिलहाल, सपना गर्भवती है। सोनू बेहद मेहनती और ईमानदार था, इसके चलते टैक्सी मालिक भी उससे बहुत खुश रहते थे। मोहल्ले वालों का भी कहना है कि सोनू बहुत शरीफ था।

हत्या की साजिश रच कर आया था पवन

पवन धारदार हथियार लेकर दून आया था। इसके चलते आशंका जताई जा रही है कि शायद पवन, सोनू की हत्या की साजिश रचकर ही दून आया था। हत्या करने के बाद भागते हुए पवन की तस्वीर मुख्य सड़क पर एक दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। यह फुटेज पुलिस को मिल गई है, जिसके आधार पर उसकी तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड पंचायत चुनाव: क्षेत्र प्रमुखों के 62 पदों के लिए 148 प्रत्याशियों के बीच होगा महा मुकाबला