अमेरिका ने अब तक किए 10 लाख कोरोना वायरस टेस्‍ट, महामारी को रोकने में ट्रंप की युद्धस्‍तर पर तैयारी

568

वाशिंगटन, एएनआइ। कोरोना वायरस(COVID-19) को फैलने से रोकने के लिए इन दिनों अमेरिका में युद्ध स्‍तर पर काम किया जा रहा है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बताया कि अब तक 10 लाख से ज्‍यादा लोगों की कोविड-19 जांच हो चुकी है। अमेरिका में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से 2800 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है।

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान बताया, ‘आज, हम कोरोनोवायरस के खिलाफ अपने युद्ध में एक ऐतिहासिक मील के पत्थर पर पहुंचे हैं। एक मिलियन(10 लाख) से अधिक अमेरिकियों का अब तक परीक्षण किया जा चुका है, जो अब तक किसी भी अन्य देश द्वारा किए गए परीक्षण से ज्यादा है। यहां तक की कोई अन्‍य देश इस आंकड़े के करीब भी नहीं है।’

यह भी पढ़े :  टिम पेन को महंगा पड़ा गैरेज से बाहर कार खड़ी करना, चोरों ने उड़ा दिया पर्स और खर्च डाले पैसे

अमेरिकी स्वास्थ्य सचिव एलेक्स अजार ने कहा कि कोरोनो वायरस के लिए प्रतिदिन लगभग 100,000 नमूनों का परीक्षण किया जा रहा है। जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका के भीतर कोविड कोरोन वायरस मामलों की संख्या 150,000 से अधिक हो गई और मृत्यु का आंकड़ा 2828 तक पहुंच गया। उधर, राष्‍ट्रपति ट्रंप ने हाल ही में कहा था कि मौत का आंकड़ा और बढ़ सकता है, जो सप्‍ताह के भीतर चरम पर पहुंचेगा।

आशंका जताई जा रही है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अमेरिका में 2 लाख लोगों की जान जा सकती है। ये आशंका खुद राष्‍ट्रपति ट्रंप ने जताई है। ऐसे में अमेरिका ने मेलेरिया की एक दवाई के सीमित इस्‍तेमाल की अनुमति दे दी है,

ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों की जान बचाई जा सके। इस बीच अमेरिका के कई शहरों में लॉकडाउन की अवधि को भी बढ़ा दिया गया है, ताकि कोरोना वायरस के दायरे को सीमित किया जा सके।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस को रोकने का सबसे कारगर उपाय है कि संक्रमित लोगों को पहचानिए और उन्‍हें क्‍वारंटाइन और आइसोलेट कीजिए। संक्रमितों को पहचानने के लिए ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों की जांच करनी होगी।

अगर हम सभी संक्रमितों की पहचान कर लेंगे, तो इस वायरस की कड़ी को तोड़ सकते हैं। इसकी कड़ी टूटने के बाद ही इस पर काबू पाया जा सकता है। इसीलिए अमेरिका ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों का टेस्‍ट कर रहा है। भारत में भी अब कोरोना वायरस की जांच में काफी तेजी आ गई है।

यह भी पढ़े :  Uttarakhand Lockdown: गांव आए हैं तो खेलें नहीं, एकांत में बिताएं समय: त्रिवेंद्र सिंह रावत