डेंगू की चपेट में आनेसे एक दर्जन रोडवेज बस चालक बीमार , बरेली, दून और दिल्ली रूट पर संचालन प्रभावित

196

 डेंगू के डंक से अब रोडवेज बसों के पहिये भी जाम होने लगे हैं। रोडवेज के 12 चालक डेंगू से पीडि़त चल रहे हैं। चिकित्सकीय जांच में इसकी पुष्टि होने पर वह अस्पताल या घर पर आराम कर रहे हैं। इससे बरेली, दून और दिल्ली रूट का संचालन प्रभावित हो रहा है। निगम के अधिकारी जैसे-तैसे अन्य मार्ग की बसों को रोककर इन रूटों पर संचालन करा रहे हैं।

पहले से ही चालकों का अभाव झेल रहे परिवहन निगम के सामने और भी दिक्कतें खड़ी हो गई हैं। कर्मचारियों के बीमार होने की वजह से बसों का संचालन करने में निगम के अधिकारियों को एड़ी-चोटी का दम लगाना पड़ रहा है। बीमार पड़े कर्मचारियों की ड्यूटी दिल्ली, देहरादून, बरेली जैसे अन्य मुख्य मार्गों पर होने के कारण कम यात्री वाले रूटों की बसें इन रूटों पर भेजनी पड़ रही हैं, जिससे यात्रियों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

यह भी पढ़े :  युवती को घर में बुलाकर किया दुष्कर्म, आरोपित फरार

व्‍वस्‍थाअों को सामान्‍य रखने की हो रही है कोशिश 

रवि कापड़ी, हल्द्वानी डिपो इंचार्ज ने बताया कि चालकों व परिचालकों के बीमार होने से बसों की संचालन व्यवस्था पर असर तो पड़ा है, फिर भी व्यवस्थाओं को सामान्य बनाए रखने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, जिससे यात्रियों को परेशानी न हो।

फिर एसटीएच व बेस से रेफर हुए मरीज

डेंगू की टेंशन कम नहीं हुई है। मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। यही कारण है कि सरकारी अस्पताल पूरी तरह पैक होने लगे हैं। मंगलवार को भी कई मरीजों को एसटीएच व बेस अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया। कुछ मरीज शहर के ही निजी अस्पतालों में गए तो कुछ बरेली व दिल्ली चले गए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने भी इस बात की पुष्टि की, लेकिन पर्याप्त व्यवस्था न होने से मजबूर हैं।

15 नए मरीजों में डेंगू की पुष्टि

कई दिन बाद एलाइजा पॉजिटिव होने वाले मरीजों की संख्या कम हुई। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के आधार पर 15 नए मरीजों में डेंगू बुखार की पुष्टि हुई। इसके अलावा सरकारी व निजी अस्पतालों में 76 मरीज भर्ती हैं। अब तक मरीजों की संख्या 958 पहुंच गई है। इसमें से 882 मरीज इलाज के बाद घर चले गए हैं। निजी चिकित्सालयों में डेंगू कार्ड पॉजिटिव 162 मरीज भर्ती हैं।

यह भी पढ़े :  अब मंत्रियो को स्वयं करना होगा आयकर भुगतान