मबीबीएस में 157, बीडीएस में 75 को ‘फ्री एग्जिट’

187

देहरादून: प्रदेश के मेडिकल व डेंटल कॉलेजों में प्रथम राउंड में सीट आवंटित होने के बाद भी कई छात्रों ने दाखिला नहीं लिया है। एमबीबीएस में ऐसे छात्रों की तादाद 157 है। जबकि बीडीएस में 75 अभ्यर्थियों ने रिपोर्ट नहीं किया। प्रथम राउंड में इन्होंने ‘फ्री एग्जिट’ का फायदा लिया है।

नीट स्टेट काउंसिलिंग के प्रथम चरण में छात्रों को फ्री एग्जिट की सुविधा दी गई है। यानी प्रथम चरण में सीट आवंटित होने पर अगर वह उस पर दाखिला नहीं लेता तो किसी तरह का दंड नहीं लगेगा। वह अन्य राउंड में हिस्सा ले सकता है। अगर कोई छात्र दो चरण के बाद किसी प्राइवेट कॉलेज में राज्य या ऑल इंडिया कोटे की सीट छोड़ता है तो उसे एक लाख रुपये जुर्माना देना होगा। वह किसी सरकारी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की सीट छोड़ता है तो उसे दस हजार रुपये जुर्माना देना होगा। इसकी एवज में उसकी सिक्योरिटी मनी जब्त कर ली जाएगी।

 यह भी पढ़े : पूर्व सीएम हरीश रावत समेत 118 ने दी गैरसैंण में गिरफ्तारी, जानिए वजह

एचएनबी चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. विजय जुयाल ने बताया कि प्रथम राउंड के तहत दाखिले की अंतिम तिथि 12 जुलाई नियत थी। द्वितीय चरण 15 जुलाई से शुरू होगा। प्रथम राउंड में दाखिला न लेने वाले छात्र भी द्वितीय चरण में हिस्सा ले सकते हैं। वहीं दाखिला ले चुके छात्र सीट अपग्रेडेशन के लिए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि एमबीबीएस की 197 व बीडीएस की कुल 112 सीटें अभी रिक्त हैं। प्रथम राउंड में दाखिला लेने वाले छात्र अभी 24 जुलाई शाम पांच बजे तक फ्री एग्जिट के तहत सीट छोड़ सकते हैं। इसी दिन रात आठ बजे सीट मैट्रिक्स वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी। दून मेडिकल कॉलेज में दाखिले में दिक्कत

दून मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में दाखिला लेने वाले छात्रों को कई स्तर पर मुश्किलों से जूझना पड़ रहा है। छात्रों को डॉक्टर व क्लर्क समय पर नहीं मिलने की वजह से दिक्कत आ रही है। कुछ छात्रों ने इसकी शिकायत प्राचार्य से की है। प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने बताया कि छात्रों ने मेडिकल को लेकर दिक्कत बताई है। चार बजे तक ऑफिस के बाबू ड्यूटी करेंगे और जब तक मेडिकल नहीं बन जाते ड्यूटी पर रहेंगे। ये रही स्थिति

एमबीबीएस

कॉलेज-आवंटित सीट-दाखिले

हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज-101-84

श्रीनगर मेडिकल कॉलेज-103-95

दून मेडिकल कॉलेज-141-128

हिमालयन इंस्टीट्यूट-142-88

एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज-134-69 बीडीएस

सीमा डेंटल कॉलेज-93-59

उत्तरांचल डेंटल कॉलेज-70-29

 यह भी पढ़े : बारिश से रोडवेज बस के ब्रेक फेल, चालक ने सूझबूझ से बचाई 15 यात्रियों की जान