पांच साल में गैरसैंण क्षेत्र के विकास को 12 करोड़ की योजनाएं

76

 गैरसैंण क्षेत्र के विकास को पिछले पांच सालों में 12 करोड़ की योजनाएं स्वीकृत की गईं। इनमें से 66 योजनाओं के लिए अब तक 9.12 करोड़ की राशि विभागों को अवमुक्त की जा चुकी है। 35 योजनाओं का कार्य पूरा हो गया है, जबकि 30 पर काम चल रहा है। एक योजना को अनुपयुक्त पाया गया। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में सोमवार को विधानसभा में हुई गैरसैंण विकास परिषद की बोर्ड बैठक में यह जानकारी दी गई।

परिषद की बोर्ड बैठक में गैरसैंण क्षेत्र के लिए स्वीकृत कार्यों की समीक्षा करने के साथ ही पूर्ण हुए कार्यों के फोटोग्राफ सहित प्रस्तुतीकरण दिया गया। उन योजनाओं पर भी चर्चा की गई, जिनमें द्वितीय किश्त अवमुक्त होनी है। इसके अलावा परिषद के पास वर्तमान में मौजूद 2.81 करोड़ की अवशेष राशि के लिए विभागों से प्राप्त नई येाजनाओं पर विस अध्यक्ष ने अधिकारियों से चर्चा की।

यह भी पढ़े :   पाकिस्तान से निपटने के लिए गठित की जाएगी अलग जम्मू-कश्मीर कमान

बाद में पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बताया कि नई योजनाओं में गैरसैंण में 60 फीसद और इससे लगे चौखुटिया में 40 फीसद बजट खर्च किया जाएगा। उन्होंने बताया कि परिषद की पिछली बैठक में गैरसैंण क्षेत्र में हुए और निर्माणाधीन कार्यों के भौतिक सत्यापन को कर्णप्रयाग के विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी और द्वारहाट के विधायक महेश नेगी की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई थी। इस कमेटी ने सभी कार्यों का भौतिक सत्यापन किया। इसकी जांच आख्या भी बैठक में प्रस्तुत की गई। सभी कार्य ठीक से हुए हैं।

विस अध्यक्ष के मुताबिक कर्णप्रयाग और द्वारहाट के विधायकों को परिषद के सदस्यों के साथ मिलकर नई कार्य योजनाओं को बोर्ड की अगली बैठक में रखने को कहा गया है। परिषद की अगली बोर्ड बैठक गैरसैंण में होने वाले बजट सत्र के दौरान होगी, जिसमें नई कार्ययोजनाएं स्वीकृत की जाएंगी।

उन्होंने यह भी बताया कि परिषद के बजट में बढ़ोतरी के लिए सरकार को पत्र भेजा जाएगा। बैठक में द्वारहाट विधायक महेश नेगी, सचिव सिंचाई डॉ.भूपिंदर कौर औलख, चमोली के सीडीओ हंसादत्त पांडेय, अल्मोड़ा के सीडीओ मनोज गोयल, अपर सचिव वित्त भूपेश तिवारी, अपर सचिव आवास गरिमा, चौखुटिया की ब्लाक प्रमुख किरण बिष्ट, गैरसैंण नगर पंचायत के अध्यक्ष पुष्कर सिंह रावत आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़े :  UP Board 2020: यूपी बोर्ड की परीक्षाएं शुरू, कड़ी निगरानी में परीक्षा दे रहे परीक्षार्थी